प्रदर्शन करना किसानों का हक- सुप्रीम कोर्ट

सरकार और किसानों के बीच अब भी जंग जारी है। मामला कोर्ट तक पहुंच तो गया है, लेकिन अब भी समाधान नही निकला।

1
273
Farmers Protest 2020
सरकार और किसानों के बीच अब भी जंग जारी है। मामला कोर्ट तक पहुंच तो गया है, लेकिन अब भी समाधान नही निकला।

New Delhi: किसान आंदोलन (Farmers Protest 2020) को लेकर सरकार और किसानों के बीच अब भी जंग जारी है। मामला कोर्ट तक पहुंच तो गया है, लेकिन अब भी समाधान नही निकला। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि वो किसानों के प्रदर्शन करने के अधिकार को स्वीकार करती है और वो किसानों के ‘राइट टू प्रोटेस्ट’ (Farmers Protest 2020) के अधिकार को सही समझती हैं। सुनवाई कर रहे चीफ जस्टिस एस ए बोबडे ने कहा कि ‘हमें यह देखना होगा कि किसान अपना प्रदर्शन भी करे और लोगों के अधिकारों का हनन भी न हो।’ 

भारत-बांग्लादेश के लोगों को मिलेगा फायदा, 55 सालों बाद ये रेल लिंक शुरू

बता दें सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने (Farmers Protest 2020) कोर्ट से कहा कि सरकार किसानों के हितों के खिलाफ कुछ भी नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि किसान संगठनों को आदेश दिया जाए कि सरकार के साथ कानूनों के प्रावधानों पर बात करें जिससे कोई हल निकल जाए। इस पर कोर्ट ने कहा कि आप जो भी बात कर रहे हैं उससे कुछ नहीं निकल रहा है। मेहता ने कहा कि बातचीत तभी सफल होगी जब दोनों ओर से ऐसे लोग सामने आएं जो बातचीत के लिए पूकी तरह तैयार हों। 

आज चिल्ला बॉर्डर को जाम करने की चेतावनी, SC में होगी सुनवाई

दरअसल, अदालत ने पूछा कि कितने लोगों ने सड़कें ब्लाक की हैं, क्योंकि अधिकारों की बात की जाए तो इस तरह से सड़कें ब्लॉक (Farmers Protest 2020) नहीं की जाती। किसानों ने जबाव में कहा कि सरकार ने सड़के बंद नहीं की हैं, यह सड़के पुलिस ने बंद की हैं क्योंकि किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस पर कोर्ट ने कहा कि इसका मतलब यह हुआ कि आप ही एक ऐसी पार्टी है जो वास्तव में जमीन पर हैं। बता दें किसानों को सड़कों से हटाने के लिए रिशभ शर्मा और रीपक कंसल ने याचिका दायर की है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

1 COMMENT

  1. each time i used to read smaller articles which as well clear
    their motive, and that is also happening
    with this piece of writing which I am reading now.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here