पक्षपात के आरोपों पर फेसबुक के प्रवक्ता ने जारी किया स्टेटमेंट

अमेरिका के अखबार द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि फेसबुक ने बीजेपी नेताओं और कुछ समूहों के ‘हेट स्पीच’वाली पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई नहीं की है।

0
255
Facebook Hate Speech
पक्षपात के आरोपों पर फेसबुक के प्रवक्ता ने जारी किया स्टेटमेंट

New Delhi: सोशल मीडिया साइट फेसबुक (Facebook) पर आरोप लग रहे हैं कि उसने बीजेपी विधायक द्वारा नफरत फैलाने वाले कंटेंट (Facebook Hate Speech) को अपने प्लेटफॉर्म से नहीं हटाया। फेसबुक पर अपना काम निकलवाने के लिए बीजेपी सरकार का पक्ष लेने का भी आरोप लगाया जा रहा है। दरअसल, अमेरिका के अखबार द वॉल स्ट्रीट जर्नल (The Wall Street Journal) ने फेसबुक की निष्पक्षता पर सवाल उठाए हैं।

अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि फेसबुक ने बीजेपी नेताओं और कुछ समूहों के ‘हेट स्पीच’ (Facebook Hate Speech) वाली पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई नहीं की है। एक रणनीति के तहत इन पोस्ट को जल्द नहीं हटाया गया। वहीं अब फेसबुक ने इस पर सफाई दी है। फेसबुक के प्रवक्ता ने सोमवार को एक ईमेल में कहा “हमारे प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीच और नफरत फैलाने वाले कंटेंट पर रोक है। हम किसी राजनीतिक विचारधारा या किसी पक्ष के साथ नहीं हैं। ऐसी चीजों पर लगाम लगाने के लिए हम लगातार अपनी व्यवस्था में सुधार ला रहे हैं।’

नीट और जेईई मेन परीक्षा पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

बता दें कि देश में फेसबुक और वॉट्सऐप के ‘कंट्रोल’ मामले को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस रिपोर्ट को लेकर ट्वीट करते हुए कहा कि भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप पर आरएसएस और बीजेपी का कब्जा है। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल चुनाव को प्रभावित करने के लिए भी करती है।

वहीं प्रियंका गांधी ने लिखा कि भाजपा नफरत और दुष्प्रचार फैलाने के लिये हर तरह के हथकंडे का इस्तेमाल करती थी और अभी भी कर रही है। ओर फेसबुक कोई कार्रवाई न कर पाए इसके लिए भाजपा ने फेसबुक के आधिकारियों से सांठगांठ भी किया है। कांग्रेस ने मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देकर इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) कराने की मांग की है।

वहीं इस मामले के बाद फेसबुक की अधिकारी अंखी दास को जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। अंखी ने दिल्ली में साइबर सेल यूनिट में शिकायत दर्ज कराई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here