Ayodhya Electric Bus: रामनगरी में दौड़ेगी इलेक्ट्रिक बसें, अयोध्या बनेगा इको-फ्रेंडली

0
72

Electric bus in Ayodhya : अयोध्या शहर में अब दिल्ली की तरह इलेक्ट्रिक बसें सड़कों पर दौड़ती हुई नजर आएंगी। इन बसों के लिए 12 बस स्टॉप बनाए जाएंगे। वहीं श्रद्घालुओं को इलेक्ट्रिक वाहनों से मठ मंदिरों, धार्मिक स्थलों सहित राम जन्मभूमि परिसर का दर्शन कराए जाएंगे। राम मंदिर निर्माण के साथ ही रामनगरी में पर्यटकों व श्रद्धालुओं की संख्या तेजी से बढ़ी है।

रामनगरी में चलेगें  इलेक्ट्रिक वाहन

राममंदिर निर्माण का काम पूरा होने के बाद हर दिन रामनगरी में लाखों श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है, ऐसे में भक्तों के लिए सुविधाएं विकसित करने की दिशा में काम तेज हो गया है। इसी क्रम में रामनगरी में इलेक्ट्रिक बसें चलाई जाने की तैयारी शुरू हो गई है। अयोध्या आने वाले भक्तों व पर्यटकों को 15 किमी. की धार्मिक यात्रा कराई जाएगी।

अयोध्या बनेगा इको-फ्रेंडली

इलेक्ट्रिक बसों के जरिए भक्त रामकथा पार्क से गुप्तारघाट होकर भरतकुंड पहुंचेंगे। इसके लिए 12 बस स्टॉप बनाए जाएंगे। अयोध्या को इको-फ्रेंडली बनाने पर जोर है। नई अयोध्या में स्वच्छता व सुंदरता पर ज्यादा जोर है। पौराणिकता को सहेजते हुए आधुनिक सुविधाएं विकसित की जा रही है। राममंदिर का इलाका प्रदूषण मुक्त हो इसलिए डीजल और पेट्रोल से चलने वाले यात्री वाहनों को बंद कर इलेक्ट्रिक वाहन व बैटरी चालित वाहनों को रामनगरी में चलाया जाएगा।

इलेक्ट्रिक वाहनों से कराए जाएंगे दर्शन

पर्यटकों व भक्तों को इलेक्ट्रिक वाहनों से मठ मंदिरों, धार्मिक स्थलों सहित राम जन्मभूमि परिसर का दर्शन कराएं जाएंगे। नगर निगम की ओर से प्रशिक्षित गाइड लगाए जाएंगे जो भक्तों को रामनगरी की धार्मिकता से अवगत कराएंगे। एक बार में भक्त रामकथा पार्क से गुप्तारघाट होते हुए भरतकुंड तक की धार्मिक यात्रा का आनंद उठा सकेंगे।

12  इलेक्ट्रिक बस स्टॉप बनाने की तैयारी

भरत कुंड वही स्थल है जहां भरत ने 14 वर्ष श्रीराम की खड़ाऊं रखकर अयोध्या का राजकाज चलाया था। इसको लेकर नगर निगम ने तैयारी शुरू कर दी है। रामनगरी में रामकथा पार्क सहित 12 स्थानों पर इलेक्ट्रिक बस स्टॉप बनाने की योजना है। बस स्टॉप के लिए सड़कों की मार्किंग भी शुरू कर दी गई है। बस स्टॉप बनने वाले स्थानों पर 20 मीटर सड़क के अलावा लगभग 10 मीटर तक जगह लेने की तैयारी है। अब तक नयाघाट, छोटी देवकाली, हनुमानगढ़ी, श्रीराम अस्पताल, टेढ़ी बाजार पर बस स्टाप बनाने के लिए मार्किंग की जा चुकी है।

अयोध्या में मल्टीलेवल पार्किंग

अयोध्या के नगर निगम क्षेत्र में 10 होटलों को सरकार ने अनुमति दी है। जिसमें पांच सितारा होटल और तीन सितारा होटल शामिल है। इसके अलावा रामनगरी में पांच स्थानों पर मल्टीलेवल वाहन पार्किंग स्थल बनाया जा रहा है। टेढ़ीबाजार पर दो, कोशलेश कुंज पर एक पार्किंग बन रही है। जबकि दो अन्य स्थानों पर बनाई जा रही हैं। जिसमें से एक मल्टी लेवल कार पार्किंग लगभग तैयार हो गई है।

सरयू नदी के किनारे राजघाट से गुप्तारघाट को जोड़ने के लिए एक बांध बनाया जा रहा है। जिस पर छह मीटर चौड़ी सड़क बन रही है। लगभग 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। इसके जरिए गुप्तारघाट को नयाघाट से जोड़ा जाएगा। इस विशेष मार्ग से श्रद्धालु व पर्यटक भगवान श्रीराम के जन्म स्थल व श्रीराम के गुप्त होने के स्थल तक आसानी से पहुंच सकेंगे। इस मार्ग को धार्मिक दृश्यों से सजाया जाएगा। सड़क किनारे पार्किंग व बाउंड्री बनाने का काम भी चल रहा है।

राममंदिर का इलाका होगा प्रदूषण मुक्त

अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय का कहना है कि भविष्य की अयोध्या आधुनिक सुविधाओं से युक्त लेकिन इको फ्रेंडली होगी। राममंदिर का इलाका पूरी तरह से प्रदूषण मुक्त होगा। जन सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा और पर्यावरण को संरक्षित करते हुए अयोध्या के विकास को गति प्रदान की जाएगी। दिसंबर 2023 में राम मंदिर बनने से पहले अयोध्या विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त हो जाएगी, जिससे पर्यटन को धार मिलेगी, अयोध्या में संपन्नता आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here