ड्रग्‍स मामले में आरोपी हुए बरी तो महिला पुलिस अफसर ने वापिस किया मेडल

महिला पुलिस Drugs Case ने अपना वीरता पुरस्कार सरकार को वापिस कर दिया है। इस पुलिस अफसर का नाम थौनाओजम बृंदा है।

0
163
Drugs Case
महिला पुलिस Drugs Case ने अपना वीरता पुरस्कार सरकार को वापिस कर दिया है। इस पुलिस अफसर का नाम थौनाओजम बृंदा है।

Manipur: मणिपुर में ड्रग्स मामले को लेकर आरोपियों (Drugs Case) को बरी कर दिया गया था। यानी आरोप लगने के बाद और गिरफ्तारी के बावजूद उन्हें कोई सजा नही मिली। इन सब के चलते महिला पुलिस ने अपना वीरता पुरस्कार सरकार को वापिस कर दिया है। इस पुलिस अफसर का नाम थौनाओजम बृंदा है। बता दें इस ड्रग्स केस में बीजेपी के पूर्व एडीसी चेयरमैन सहित 7 लोगों पर आरोप दर्ज किया गया था। लेकिन कोर्ट ने इन सभी को बरी कर दिया (Drugs Case) है। ऐसे में महिला अफसर बृंदा ने अपना वीरता पुरस्कार मुख्‍यमंत्री एन बीरेन सिंह को लौटा दिया है। 

अफगानिस्तान के काबुल में विस्फोट अब तक 9 लोगों की मौत

खास बात ये है कि मेडल (Drugs Case) वापिस करने की पेशकश अदालत में की गई है। जिन भी लोगों का ड्रग्स केस में गिरफ्तार किया गया था। उन सभी के पास से भारी मात्रा में ड्रग्स जब्त किया गया था। लेकिन इन सभी पर कोई कार्रवाई नही हुई और कोर्ट ने इन्हें बरी कर दिया। जिसके बाद महिला अफसर बृंदा को अपने वीरता पुरस्कार पर गर्व महसूस नही हुआ और उन्होंने पुरस्कार वापिस देने का फैसला कर लिया। 

450 साल के पुर्तगाली शासन का जानें इतिहास

बता दें कि मणिपुर की महिला पुलिस अफसर थौनाओजम बृंदा (Thanaojam Brinda) को 13 अगस्‍त 2018 को राज्‍य सरकार ने ड्रग्‍स के लिखाफ जंग में अहम योगदान देने के लिए मुख्‍यमंत्री वीरता पदक से नवाजा था। पुलिस अधिकारी ने राज्य सरकार के लिए पूरे सम्मान के साथ और एनडीपीएस अदालत के फैसले का पालन करते हुए मेडल वापस लौटाने की पेशकश की है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here