स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि कब तक आएगी कोरोना वैक्सीन…

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन के आने की संभावना है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में एक एक्सपर्ट ग्रुप इसकी देखरेख कर रहा है और हमारे पास एडवांस प्लानिंग है।

0
275
Dr. harsh vardhan
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि कब तक आएगी कोरोना वैक्सीन

New Delhi: देश में कोरोना वायरस महामारी बढ़ती ही जा रही है। देश में लगातार हर दिन 90 हजार से ज्यादा ममाल सामने आ रहे है। इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr. Harsh Vardhan) ने गुरुवार को राज्यसभा में बताया कि कब तक वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के आने की संभावना है। उन्होंने कहा, ‘भारत अन्य देशों की तरह कोशिश कर रहा है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में एक एक्सपर्ट ग्रुप इसकी देखरेख कर रहा है और हमारे पास एडवांस प्लानिंग है। हमें उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत तक भारत में वैक्सीन उपलब्ध होगी।’

डॉ. हर्षवर्धन (Dr. Harsh Vardhan) ने बताया कि कोरोना की शुरुआत जब हुई थी तब अनुमान लगाया गया था कि जुलाई-अगस्त में भारत में 300 मिलियन कोरोना केस हो चुके होंगे और 5 से 6 मिलियन लोगों की कोरोना महामारी से मौत हो चुकी होगी। भारत ने सभी कयास को गलत साबित किया है और वो कोरोना की जंग जीत रहा है। उन्होंने कहा कि 135 करोड़ के इस देश में हम रोजाना 11 लाख टेस्ट कर रहे हैं। कोरोना टेस्ट के मामले में हमसे आगे केवल अमेरिका है।

सीमा विवाद पर बोले रक्षा मंत्री, महामारी को लेकर विपक्ष ने साधा निशाना

उन्होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस से होने वाली मौत की दर फिलहाल, दुनिया के अन्य देशों की तुलना में सबसे कम है और सरकार का लक्ष्य इस मृत्यु दर को घटा कर एक फीसदी से भी कम करने का है। कोरोना वायरस महामारी पर राज्यसभा में हुई चर्चा पर कहा कि भारत में कोविड मरीजों के स्वस्थ होने की दर 78 से 79 फीसदी है। उन्होंने कहा कि भारत कोविड-19 से स्वस्थ होने की उच्च दर वाले गिने-चुने देशों में शामिल है।

देश में Covaxin का दूसरा ट्रायल होगा शुरू, पहले फेज को मिली मंजूरी

डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि कोरोना मामले में सरकार ने सही समय पर सही कदम उठाया है और इस मामले में बिल्कुल भी देर नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि 7 तारीख को जब डब्ल्यूएचओ (World Health Organisation) ने कोरोना वायरस का जिक्र किया था तब से हमने कोरोना पर बैठक करना शुरू कर दिया था। इतिहास इस बात को लेकर पीएम मोदी को हमेशा याद करेगा कि कैसे लगातार 8 महीने तक उन्होंने कोरोना को लेकर हर एक्शन पर नजर रखी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here