जानें होसबोले का जेपी आंदोलन से लेकर RSS तक का सफर

भारत का डीएनए बताने वाले और कर्नाटक के दत्तात्रेय होसबोले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘सरकार्यवाह' बनाया गया है।

0
213
Dattatreya Hosabale
भारत का डीएनए बताने वाले और कर्नाटक के दत्तात्रेय होसबोले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘सरकार्यवाह' बनाया गया है।

Bangalore: भारत का डीएनए बताने वाले और कर्नाटक के दत्तात्रेय होसबोले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘सरकार्यवाह’ (Dattatreya Hosabale) बनाया गया है। सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर होसबोले ने इंदिरा गांधी के आपातकाल का विरोध किया था। इसके बाद उन्हें जेल जाना पड़ा था। 13 साल की उम्र में आरएसएस के संघ में शामिल हो गए थे। जब जेपी आंदोलन चला था तब जेल में डाले गए थे। उसके बाद जेल से छूटे तो नागपुर को केन्द्र बनाया। इमरजेंसी के दौरान दो हस्तलिखित (Dattatreya Hosabale) पत्रिकाओं का संपादन भी किया। 

अंबानी केस में नया ट्विस्ट, मनसुख के बाद इस शख्स का मिला शव

ABVP को बनाया मजबूत

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) को मजबूत बनाने का श्रेय दत्तात्रेय होसबोले को जाता है। अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम में हिंदू स्वयंसेवकों को एकजुट करने के लिए बने हिंदू स्वयंसेवक संघ के मेंटर की भी भूमिका निभाई।

एक नहीं कई भाषाएं आती है

दत्तात्रेय होसबले (Dattatreya Hosabale) को कन्नड के अलावा हिंदी, तमिल, संस्कृत, मराठी जैसी कई भाषाएं आती हैं। साथ ही लोकप्रिय कन्नड़-मासिक पत्रिका ‘असीमा’ के संस्थापक-संपादक हैं। 

जापान में भूकंप के लगे झटके, सुनामी की चेतावनी

होसबले कहां के रहने वाले है

कर्नाटक के लगभग सभी प्रसिद्ध लेखकों और पत्रकारों के साथ उनकी निकटता रही, जिनमें वाई एन कृष्णमूर्ति और गोपाल कृष्ण (Gopal Krishna) जैसे प्रमुख नाम शामिल रहे। वह एक कन्नड़ मासिक भी संचालित की थी। कर्नाटक के शिमोगा जिले के सोरबा तालुक के एक छोटे से गांव के रहने वाले है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here