कोरोना की भारतीय वैक्सीन Covaxin का परीक्षण सफल !

इसी महीने भारत बायोटेक को सेंट्रल ड्रग्‍स स्‍टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) ने कोवैक्सिन (Covaxin) के फेज 2 ट्रायल की अनुमति दी है.

0
176
Covaxin
कोरोना की भारतीय वैक्सीन Covaxin का परीक्षण सफल !

Delhi: भारत में बनाई जा रही कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन (Covaxin) को लेकर एक अच्छी खबर सामने आई है. भारतीय कंपनी भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोरोना वैक्सीन (COVID-19 vaccine) की टेस्टिंग का नतीजा सफल रहा है. कंपनी को हाल ही में कुछ जानवरों पर किये गये परीक्षण के नतीजे सकारात्मक मिले हैं. भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन (Covaxin Update) की टेस्टिंग कुछ बंदरों पर की गई जिसके अच्छे रिजल्ट से आशा की एक किरण जगी है. कंपनी ने कोरोना का टीका लगाए गये 20 बंदरों को 5 बंदर के 4 समूहों में बांटा. जिसमें बंदरों के 3 समूहों को 0-14 दिन तक 3 अलग-अलग वैक्सीन दी गई.

मेट्रो में नियमों की अनदेखी पर इतने लोगों पर लगा जुर्माना

विशेषज्ञों द्वारा दी गई वैक्सीन (Covaxin Update) के 7 दिन बाद बंदरों के नाक, गले, फेफड़ों और फेफड़ों के पास की जगह में वायरस दूर होता गया. बंदरों के एक ग्रुप को प्‍लेसीबो दिया गया जबकि बाकी तीन समूहों को तीन अलग-अलग तरह की वैक्‍सीन पहले और 14 दिन के बाद दी गई. दूसरी डोज देने के बाद, सभी बंदरों को SARS-CoV-2 से एक्‍सपोज कराया गया. कंपनी के मुताबिक, जिन 3 समूहों के बंदरों को वैक्सीन दी गई थी, उनमें निमोनिया के कोई लक्षण नहीं दिखे जबकि जिस ग्रुप को वैक्सीन नहीं दी गई थी उसमें निमोनिया के लक्ष्ण पाए गए. कंपनी के अनुसार बंदरों पर स्‍टडी के नतीजों से वैक्‍सीन की इम्‍युनोजीनिसिटी यानी प्रतिरक्षाजनकता का पता चलता है. भारत बायोटेक ने खास तरह के बंदरों को वैक्‍सीन की डोज दी थी.

इस कारण रुका सबसे आगे चल रही कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

आपको बता दें कि भारत में अलग-अलग जगहों पर इस वैक्‍सीन का फेज 1 क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो चुका है. इसी महीने भारत बायोटेक को सेंट्रल ड्रग्‍स स्‍टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) ने फेज 2 ट्रायल की अनुमति दी है. गौरतलब है कि कोवैक्सिन को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (Indian Council of Medical Research), नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरलॉजी (National Institute of Virology) और भारत बायोटेक ने मिलकर बनाया है. 29 जून को भारत बायोटेक ने वैक्‍सीन का ऐलान किया था जिसके बाद से कंपनी लगातार इसका परीक्षण कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here