3 दशक बाद कश्मीर में सिनेमा के साथ सियासत शुरू

0
91
3 दशक बाद कश्मीर में सिनेमा के साथ सियासत शुरू

Cinema Halls open in Kashmir: जम्मू-कश्मीर में अरसे बाद सिनेमा हॉल खुले हैं। जिसको लेकर सियासत शुरू हो चुकी है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष एवं लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को इसको लेकर सवाल उठा दिया है। उन्होंने कहा कि सिनेमा हॉल तो खुल रहे हैं, लेकिन जुमे की नमाज़ के लिए मस्जिदें क्यों नहीं खुल रही हैं। आपको बताद दें कि जम्मू कश्मीर में एलजी मनोज सिन्हा ने हाल ही में कुछ मल्टीप्लेक्सेज का उद्धाटन किया है। ऐसा बताया जा रहा है कि फिल्म लाल सिंह चड्ढा के शो के साथ इन सिनेमाघरों की शुरुआत हुई है।

ओवैसी ने ट्वीट कर कसा तंज

इस मामले को लेकर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को यह बात रास नहीं आई। उन्होंने मंगलवार को सवाल कर कहा कि जब जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां और पुलवामा जिले में बहुउद्देशीय सिनेमाघरों का उद्घाटन किया तो श्रीनगर में जामिया मस्जिद हर शुक्रवार को बंद क्यों थी ? ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि आपने शोपियां और पुलवामा में सिनेमा हॉल खोल रखे हैं लेकिन श्रीनगर में जामिया मस्जिद हर जुमे को बंद रखी जाती है ऐसा क्यों ? कम से कम इतना तो किया जाना चाहिए कि इसे दोपहर में मैटिनी शो के दौरान खोलने के आदेश दें।

80 के दशक में चलते थे कई सिनेमा

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में सिनेमाहॉल लंबे समय से बंद हैं। 80 के दशक तक यहां लगभग एक दर्जन सिनेमाहॉल चल रहे थे। लेकिन उनके मालिकों को लगातार आतंकियों की धमकियां मिल रही थीं। जिसके चलते यह सभी सिनेमाघरों को बंद कर दिया गया। 90 के दशक में कुछ सिनेमाघरों को खोलने की कोशिशें की गई थीं, लेकिन आतंक के चलते ये कोशिशें नाकाम रहीं। सितंबर 1999 में आतंकियों ने लाल चौक पर स्थित रीगल सिनेमा पर ग्रेनेड से हमला कर दिया था जिसके बाद उस सिनेमाघर को बंद कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here