2021 की शुरूआत में लॉन्च हो सकता है चंद्रयान-3, नहीं होगा ऑर्बिटर

चंद्रयान-3 का लॉन्च 2021 की शुरुआत में हो सकता है। इसमें चंद्रयान-2 जैसा ही एक लैंडर और रोवर शामिल होगा, लेकिन ऑर्बिटर नहीं होगा।

0
196
Chandrayaan-3
2021 की शुरूआत में लॉन्च हो सकता है चंद्रयान-3, नहीं होगा ऑर्बिटर

New Delhi: भारत के चंद्र अभियान के तहत चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) को 2021 की शुरूआत में लॉन्च किये जाने की संभावना है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि चंद्रयान-3 का लॉन्च 2021 की शुरुआत में हो सकता है। चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) मिशन चंद्रयान-2 का रिपीट मिशन होगा। इसमें चंद्रयान-2 जैसा ही एक लैंडर और रोवर शामिल होगा, लेकिन ऑर्बिटर नहीं होगा।

जितेंद्र सिंह ने कहा, ‘चंद्रमा पर ISRO के पहले मिशन चंद्रयान-1 ने तस्वीरें भेजी हैं, जो बताती हैं कि चंद्रमा के ध्रुवों पर जंग लगा हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘चंद्रमा पर लौह-युक्त चट्टानें होने की बात मानी जाती है और यहां पानी और ऑक्सीजन की मौजूदगी का पता नहीं चला है। जबकि जंग बनने के लिए लोहे का इन दो तत्वों के संपर्क में आना जरूरी है।’

नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि पृथ्वी का पर्यावरण इसमें योगदान दे रहा है। मंत्री ने आगे कहा कि, अंतरिक्ष में मानव को भेजने के भारत के प्रथम अभियान ‘गगनयान’ की तैयारियां जारी हैं। कोविड-19 के चलते तैयारियों में से कुछ अड़चनें आई लेकिन 2022 के आसपास के समय सीमा को पूरा करने के लिये कोशिश जारी है।

देश में Covaxin का दूसरा ट्रायल होगा शुरू, पहले फेज को मिली मंजूरी

बता दें कि पिछले साल सितंबर में चंद्रयान-2 की हार्ड लैंडिंग के बाद, अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने इस साल के अंत में चंद्रमा के लिए एक और मिशन की योजना बनाई थी। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने की योजना बनाते हुए, चंद्रयान-2 को पिछले साल 22 जुलाई को लॉन्च किया गया था। हालांकि, 7 सितंबर को लैंडर विक्रम की हार्ड लैंडिंग ने भारत के सपने को पूरा नहीं होने दिया था। इस मिशन में बेजा गया ऑरबिटर अच्छे से काम कर रहा है और डेटा भेज रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here