Noida Omaxe Society : हाईकोर्ट ने ओमेक्स सोसाइटी में तोड़फोड़ पर रोक लगा दी है, अर्जेंट मामला मानते हुए आज ही हुई सुनवाई

0
86

Noida Omaxe Society: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ओमेक्स सोसाइटी में नोएडा अथॉरिटी की कार्रवाई पर 20 अक्टूबर तक रोक लगा दी है।  बता दें की हाईकोर्ट के रोक लगाने के बाद सोसायटी के लोगों को राहत मिली है।

नेता श्रीकांत त्यागी के महिला से बदसलूकी और गाली-गलौज मामले के बाद ओमेक्स सोसाइटी सुर्खियों में आई थी।  नोएडा अथॉरिटी ने आज ओमेक्स सोसायटी पहुंचकर वहां अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई शुरू की थी। अथॉरिटी की इस कार्रवाई के खिलाफ मुकुल गुप्ता समेत 125 फ्लैट ऑनर्स ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज ही अर्जी दाखिल की है।

हाईकोर्ट ने आज ही की सुनवाई

इसको गंभीर और अर्जेंट मामला मानते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज ही फ्लैट ऑनर्स की अर्जी पर सुनवाई की। फ्लैट ऑनर्स ने कहा कि अथॉरिटी ने 2 साल पहले 2020 में उन्हें नोटिस दिया था। इस नोटिस का उन्होंने जवाब दाखिल कर दिया था। इसके बाद अथॉरिटी शांत बैठ गई थी। वहीं अथॉरिटी ने 2 दिन पहले 48 घंटे में अतिक्रमण को खुद ही हटाने का अल्टीमेटम दिया था। आज दिन में 48 घंटे की मियाद पूरी होते ही अथॉरिटी बुलडोजर लेकर पहुंच गया था। अथॉरिटी ने पूर्व में दाखिल किए गए उनके जवाब का कोई संज्ञान नहीं लिया। सोसायटी के लोगों ने बिल्डर व अथॉरिटी से परमिशन लेकर ही अस्थाई कंस्ट्रक्शन कराए थे।

गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी के बाद ओमेक्स सोसाइटी आई सुर्खियों में

गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी के मामले के बाद ओमेक्स सोसाइटी को लेकर नोएडा अथॉरिटी फिर से सक्रिय हुआ है। बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज ही दाखिल की गई याचिका पर दो बार सुनवाई की। अदालत ने नोएडा अथॉरिटी समेत बाकी विपक्षियों से 20 अक्टूबर को जवाब दाखिल करने को कहा है। वहीं अदालत ने नोएडा अथॉरिटी को 20 अक्टूबर तक किसी तरह की कार्रवाई नहीं करने के भी निर्देश दिए हैं, अब इस मामले में 20 अक्टूबर को फिर से अगली सुनवाई होगी ।

हाईकोर्ट के आदेश से अथॉरिटी के लोगों को मिली राहत

इलाहाबाद हाईकोर्ट में जस्टिस मनोज कुमार गुप्ता और जस्टिस जयंत बनर्जी की डिवीजन बेंच में सुनवाई हुई है। वहीं बात करें फ्लैट ऑनर्स की तो उन्होंने अदालत में बताया की मौखिक आदेश के बावजूद अथॉरिटी ने कई फ्लैट पर कार्रवाई कर दी है। इस पर अदालत ने वीडियोग्राफी व फोटोग्राफ्स के साथ अगली सुनवाई पर अपनी बात रखने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here