किसानों ने इस दिन को भारत बंद का आह्वान किया, कई राजनीतिक दलों ने दिया समर्थन

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने भी कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन पर होने वाले भारत बंद का समर्थन करने का ऐलान कर दिया है।

0
240
Bharat Bandh
किसानों ने इस दिन को भारत बंद का आह्वान किया, कई राजनीतिक दलों ने दिया समर्थन

New Delhi: कृषि कानूनों (Agriculture Law) के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन लगातार जारी है, इसी बीच अपनी मांग को लेकर अड़े किसानें ने 8 दिसंबर को भारत बंद (Bharat Bandh) का ऐलान कर दिया है। इस बंद का समर्थन पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान समेत कई राज्यों के किसान कर रहे है। वहीं कई राजनीतिक दलों ने भी इस बंद को समर्थन किया है। ऑल इंडिया किसान संघर्ष द्वारा बुलाए गए इस भारत बंद में 400 से ज्यादा किसान संगठन शामिल हैं।

किसान पोर्टल से हटाए गए 2 करोड़ से ज्यादा किसान, देखें लिस्ट

इसी बीच अब तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (K.Chandrashekar Rao) ने भी इस बंद का समर्थन करने का ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीआरएस पार्टी के कार्यकर्ता इस भारत बंद में खुलकर हिस्सा लेंगे। टीआरएस ने ट्वीट करते हुए कहा, ”केसीआर का मानना ​​है कि लड़ाई (Kisan Andolan) को तब तक जारी रखने की जरूरत है जब तक कि नए कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया जाता। भारत बंद की सफलता के लिए टीआरएस पार्टी काम करेगी। लोगों से बंद को सफल बनाने और किसानों के लिए खड़े होने का अनुरोध किया।”

मालूम हो कि हाल ही में हुए हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में टीआरएस सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई है। जिन राजनीतिक दलों ने इस भारत बंद (Bharat Bandh) का समर्थन किया है उनमें अलावा तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक दल, राजद, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और सपा शामिल है। वहीं लेफ्ट पार्टियों में सीपीआई, सीपीआईएम, सीपीआई (एमएल), RSP और ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक ने भी बंद का समर्थन किया है।

केंद्र से टकराव, क्या अन्नदाताओं की बात मानेगी सरकार

वहीं कांग्रेस ने भी 8 दिसंबर को भारत बंद का समर्थन करने का फैसला किया है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा है कि “हम अपने पार्टी कार्यालयों पर प्रदर्शन का सहयोग करेंगे। यह किसानों को राहुल गांधी के समर्थन को मजबूत करने वाला कदम होगा। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रदर्शन सफल रहे।” वहीं बता दें कि आज रविवार को किसानों के आंदोलन का 11वां दिन हैं और किसान संगठनों के बीच नई रणनीति को लेकर अहम बैठक की जा रही है, जिसमें आगे की योजनाओं पर चर्चा हो रही है।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here