26 नवंबर को बंद रहेंगे ये बैंक, जानिए वजह

26 नवंबर को केद्रीय ट्रेड यूनियनों की तरफ से राष्ट्रव्यापी हड़ताल की जाएगी। इस हड़ताल में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ भी होगा।

0
284
Bank Strike
26 नवंबर को केद्रीय ट्रेड यूनियनों की तरफ से राष्ट्रव्यापी हड़ताल की जाएगी। इस हड़ताल में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ भी होगा।

New Delhi: अगर आपको बैंक का कोई भी काम है तो आज ही पूरा कर (Bank Strike) ले, क्योंकि 26 नवंबर को केद्रीय ट्रेड यूनियनों की तरफ से राष्ट्रव्यापी हड़ताल की जाएगी। इस हड़ताल में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ भी होगा। आपके मन में आ रहा होगा कि आखिर हड़ताल क्यों की जा रही है, तो हम आपको बता दें केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ किया गया है। सरकार ने तीन नए कानूनों को पारित किया है, इसके साथ ही 27 पूराने कानूनों को खत्म (Bank Strike) कर दिया है। ‘

कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, बेटे ने ट्वीट कर दी जानकारी

एआईबीईए भारतीय स्टेट बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक (Bank Strike) को छोड़कर ज्यादातर बैंकों का प्रतिनिधित्व करता है। इसके सदस्यों में अलग-अलग सार्वजनिक और पुराने निजी क्षेत्र के बैंकों और कुछ विदेशी बैंकों के चार लाख कर्मचारी हैं। बयान में कहा गया है कि महाराष्ट्र में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, पुरानी पीढ़ी के निजी क्षेत्र के बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और विदेशी बैंकों के करीब 30,000 कर्मचारी हड़ताल में शामिल हो सकते हैं।

ग्रामीण बैंक संगठनों के मंच ने देशभर के ग्रामीण बैंकों में कार्यरत सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के संगठनों से इस हड़ताल को सफल बनाने के लिए पत्र जारी (Bank Strike) किया है। इसमें कहा गया है कि सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने के लिए प्रेरित किया जाए और जिला स्तर पर बाकी श्रम संगठनों के साथ आयोजित होने वाले विरोध प्रर्दशनों में भी पूरी भागीदारी की जाए। 

भारत को मिली कामयाबी, इस मिसाइल का किया सफल परीक्षण

देश भर में कार्यरत करोडों श्रमिकों और कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रमुख 10 श्रम संघों के साझा मंच की केन्द्र सरकार की जन विरोधी, किसान विरोधी और राष्ट्र विरोधी नीतियों के खिलाफ बुलाई गयी देशव्यापी हड़ताल में बैंकिग उद्योग भी शामिल होगा। मौजूदा समय में सभी राज्यों में एक या उससे ज्यादा ग्रामीण बैंक है, जिनकी कुल संख्या 43 है। लगभग 21 हजार शाखाओं, एक लाख अधिकारी और सभी तरह के कर्मचारी काम कर रहे है। इनमें दैनिक और अंशकालिक कर्मचारियों की भी बडी संख्या हैं। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here