इस दिन दुश्मन ने देखा था भारत के जवानों का साहश, जानें कैसे दिया था मिशन को अंजाम।

14 फरवरी 2019 को आतंकियों ने देश के सीआरपीएफ पर कायराना हमला किया था। इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।

0
240
Balakot air strike
14 फरवरी 2019 को आतंकियों ने देश के सीआरपीएफ पर कायराना हमला किया था। इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।

New Delhi: कहने को तो फरवरी का महीना साल का सबसे छोटा महीना है लेकिन इस तरह की कई घटनाओं (Balakot air strike) के साथ इतिहास में दर्ज है। 26 फरवरी की बात करें तो आज से 2 साल पहले भारत ने हवाई हमला करते हुए बालाकोट में एयर स्ट्राइक (Balakot air strike) की गई थी और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविर को ध्वस्त कर दिया गया। इस हवाई हमले का सदमा अब तक पाकिस्तान के जहन में है।

आज व्यापारियों ने भारत बंद का किया ऐलान, 8 करोड़ लोग लेंगे हिस्सा

बता दें साल 1971 के युद्ध के बाद पहली बार भारत ने हवाई हमला किया था। ये हमला भारत की ओर से जम्मू कश्मीर के पुलवामा हमले के बाद किया गया था। दरअसल 14 फरवरी 2019 को आतंकियों ने देश के सुरक्षाकर्मियों पर कायराना हमला किया था। इस हमले में भारत के 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।

भारत ने बदला लेने के लिए पाकिस्तान के बालाकोट (Balakot air strike) स्तिथ जैश के आतंकी कैंप पर महज 12 दिनों के अंदर हमला किया। 26 फरवरी रात साढे तीन बजे भारतीय वायुसेना के करीब 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमान जेट लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर पाकिस्तान की सीमा में दाखिल हुए थे। बता दे कि सरकारी दावे के मुताबिक मिराज 2000 ने आतंकी ठिकानों पर करीब 1000 किलो  के बम गिराए जिसमें जैश के 300 आतंकी मारे गए थे। हालांकि पाकिस्तान को भारत की इस कार्रवाई की भनक तक नहीं लगी थी।

शी जिनपिंग ‘करेंगे’ भारत का दौरा, ये है बड़ी वजह

हमले के अगले दिन 15 तारीख को सुरक्षा मामलों पर कैबिनेट कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में सर्जिकल स्ट्राइक का फैसला लिया गया था। प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से NSA अजित डोभाल को इस प्लान की जिम्मेदारी दी गई थी। अजित डोभाल और तत्कालीन वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने पूरे एक्शन का ब्लूप्रिंट तैयार किया। इसी दौरान तय हुआ कि बालाकोट (Balakot air strike) में मौजूद जैश-ए- मोहम्मद के ठिकान को निशाना बनाया जाएगा।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here