इन राज्यों में पीएम मोदी ने दो आयुर्वेद संस्थानों का किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री मोदी ने आज 5वें आयुर्वेद दिवस के मौके पर गुजरात और राजस्थान में दो आयुर्वेद संस्थानों की सौगात दी।

0
151
G-20 Summit
पीएम मोदी बोले- द्वितीय विश्व युद्ध के बाद कोविड-19 सबसे बड़ी चुनौती

New Delhi: प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने आज 5वें आयुर्वेद दिवस (Ayurveda Day) के मौके पर गुजरात और राजस्थान में दो आयुर्वेद संस्थानों की सौगात दी। धनतेरस व आयुर्वेद दिवस के मौके पर पीएम ने जामनगर आयुर्वेद अध्यापन एवं अनुसंधान संस्थान (ITRA) और जयपुर के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान (NIA) का उद्घाटन   किया। ये दोनों संस्थान देश में आयुर्वेद के प्रतिष्ठित संस्थान है।

Asean Summit: पीएम मोदी ने क्षेत्र के विकास के लिए कही ये बड़ी बातें

जामनगर के आयुर्वेद अध्यापन एवं अनुसंधान संस्थान (Ayurveda Institutes) को संसद के कानून के माध्यम से राष्ट्रीय महत्व के संस्थान (INI) का दर्जा प्रदान किया गया है, जबकि जयपुर के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान को विश्वविालय अनुदान आयोग द्वारा मानद विश्वविद्यालय का दर्जा प्रदान किया गया है। प्रधानमंत्री द्वारा इन दो संस्थानों का उद्घाटन सुबह 10:30 बजे MyGov प्लेटफॉर्म पर प्रसारित किया गया।

इस मौके पर पीएम मोदी ने आयुर्वेद के महत्व को लेकर बात की। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन, पारंपरिक दवाओं पर शोध को मजबूत करने के लिए भारत में पारंपरिक चिकित्सा पर डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर की स्थापना कर रहा है। उन्होंने कहा कि बदलते समय के साथ आज हर चीज इंटीग्रेट हो रही है। स्वास्थ्य भी इससे अलग नहीं है। इसी सोच के साथ देश आज इलाज की अलग-अलग पद्धतियों के इंटीग्रेशन के लिए एक के बाद एक महत्वपूर्ण कदम उठा रहा है।

आयुर्वेद दिवस (Ayurveda Day) के मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे विश्वास है कि हमारे साझा प्रयासों से आयुष ही नहीं, बल्कि आरोग्य का हमारा पूरा सिस्टम एक बड़े बदलाव का साक्षी बनेगा। 21वीं सदी का भारत अब टुकड़ों में नहीं, समग्र तरीके से सोचता है। स्वास्थ्य से जुड़ी चुनौतियों को भी अब समग्र दृष्टिकोण के साथ उसी तरीके से ही सुलझाया जा रहा है।

भारतीय नौसेना में शामिल हुई ‘आईएनएस वागिर’, जानें क्या है खासियत

पीएम ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते पूरी दुनिया में आयुर्वेदिक उत्पादों की मांग तेजी से बढ़ी है। वहीं पीएम ने ये भी बताया कि बीते साल की तुलना में इस साल सितंबर में आयुर्वेदिक उत्पादों का निर्यात करीब डेढ गुना बढ़ा है। उन्होंने कहां जहां आज एक तरफ भारतवैक्सीन की टेस्टिंग कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ कोविड से लड़ने के लिए आयुर्वेदिक रिसर्च पर भी अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को तेजी से बढ़ा रहा है।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here