शादी के सवालों पर ये था पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का जवाब

आज अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि है। साल 2018 में आज के ही दिन यानी 16 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हुआ था।

0
374
Atal Bihari Vajpayee
शादी के सवालों पर ये था अटल बिहारी वाजपेयी का जवाब

Delhi: आज देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रतन अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि (Atal Bihari Vajpayee) है। साल 2018 में आज के ही दिन यानी 16 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हुआ था। वह भारतीय राजनीति के उन चंद नेताओं में से हैं जिन्हें हमेशा ही सभी पार्टियों से भरपूर प्यार व स्नेह मिला। आज हम आपको उनकी जिंदगी के बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो बहुत कम लोगों को पता हैं. अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था। लेकिन उनका पैतृक गांव यूपी के बटेश्वर में था, उन्होंने ग्वालियर के ही विक्टोरिया कॉलेज से उन्होंने पढ़ाई की।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के जन्मदिन पर पीएम का ट्वीट

अगर उनके (Atal Bihari Vajpayee) पूरे जीवन पर नजर डालें तो वो राजनीति, कविता और सादगी के बीच बीता। हालांकि लोगों के जेहन में ये बात भी आती है कि कभी शादी क्यों नहीं की, जिसका सही-सही जवाब और ठोस कारण किसी को नहीं पता। अटल बिहारी वाजपेयी शादी से जुड़ा सवाल पूछा जाने पर बड़े ही शांत और संयमित तरीके से उन सवालों का जवाब देते थे। कई बार तो वो कहते कि, ‘व्यस्तता के कारण ऐसा नहीं हो पाया।’ बाद में ये कहकर मुस्कुरा देते थे। उनके करीबी लोग तो ये भी कहते हैं कि उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के लिए आजीवन अविवाहित रहने का निर्णय लिया था। हालांकि इस बारे में वह खुद सदन में विपक्ष के हमलों के बीच अपने अविवाहित होने का बारे में बड़ी ही साफगोई के साथ ये बता चुके हैं, ‘मैं अविवाहित जरूर हूं, लेकिन कुंवारा नहीं।’

नाबालिग के साथ हैवानियत की घटना पर प्रदेश में चढ़ा सियासी पारा

बहुत से ऐसे लोग हैं जो ये बात तो जानते हैं कि अटल जी ने शादी नहीं की थी। लेकिन क्या आप जानते हैं उनकी एक बेटी भी थी। उनका नाम नमिता भट्टाचार्य है जो अटल जी की दत्तक पुत्री हैं। अटल जी जीते जी जिस तरह हर किसी के लिए प्रेरणास्रोत रहे वहीं उनकी मौत के बाद हुए कर्मकांड ने भी एक बड़ी मिसाल पेश की। बता दें कि अटल जी के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि उनकी बेटी नमिता भट्टाचार्य ने ही दी। कहा जाता है कि कॉलेज के दिनों में उनकी एक महिला मित्र राजकुमारी कौल हुआ करती थीं, जो अपने आखिरी समय तक अटल बिहारी वाजपेयी के साथ रही थीं। दोनों ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज (लक्ष्मीबाई कॉलेज) में साथ पढ़ते थे। अटल बिहारी वाजपेयी पर लिखी गई किताब ‘अटल बिहारी वाजपेयीः ए मैन ऑफ आल सीजंस’ में इस बात का जिक्र है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here