सियाचिन जाने का सपना हो सकता है पूरा, आम लोगों के लिए ग्लेशियर खोलने पर विचार कर रही सेना

0
1000

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद सेना सियाचिन ग्लेशियर सहित हाई ऑल्टिट्यूड वाले मिलिटरी लोकेशन को आम भारतीयों के लिए खोलने पर विचार रही है। इस योजना के बारे में आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने एक सेमिनार के दौरान कही जिसमें कई सैन्य अधिकारियों ने हिस्सा लिया था।

आर्मी सूत्रों ने बताया, ‘सम्मेलन के दौरान आर्मी चीफ ने कहा कि लोगों में सेना और इसके ऑपरेशनल चैलेंज के बारे में लोगों में काफी उत्सुकता है। चीफ ने कहा कि यह राष्ट्रीय अखंडता के लिए अच्छा रहेगा। सेना ने आम लोगों को प्रशिक्षण केंद्रों और संस्थानों में जाने की अनुमति दी है, उसी तरह अब हम सियाचिन ग्लेशियर जैसे फॉरवर्ड लोकेशन को खोलने पर विचार कर रहे हैं।’

यह भी पढ़ें: जांच के दौरान अचल संपत्ति जब्त नहीं कर सकती पुलिस- सुप्रीम कोर्ट

सियाचिन ग्लेशियर लद्दाख का हिस्सा है जिसे अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अलग केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया है, जो कि जम्मू-कश्मीर से अलग होगा। सूत्रों के मुताबिक, हालांकि सेना अभी टूरिस्ट को उन लोकेशन में जाने देने से संबंधित प्रक्रियाओं पर फैसला नहीं किया है।

सेना के सूत्रों के मुताबिक, लद्दाख और आसपास के इलाके में घूमने आने वाले लोग टाइगर हिल सहित करगिल के उन सभी वॉर पॉजिशन पर जाने की अनुमति मांगते रहे हैं, जहां भारत-पाक के बीच जंग हुई थी। सियाचिन दुनिया के सबसे ऊंचे युद्ध क्षेत्र में से एक है जहां प्रतिकूल मौसम के बीच सालों से भारतीय जवान अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें: सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर SC ने जताई चिंता, जज बोले- सोच रहा हूं कि स्मार्ट फोन यूज करना ही छोड़ दूं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here