BARC ने तीन महीनों के लिए न्यूज़ चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग पर लगाई रोक

फर्जी रेटिंग विवाद के चलते ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिलने अगले 12 हफ्तों के लिए टीवी चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग पर रोक लगा दी है।

0
128
Fake TRP
BARC ने तीन महीनों के लिए न्यूज़ चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग पर लगाई रोक

New Delhi: न्यूज़ चैनलों की रेटिंग (News Channel Rating) से छेड़छाड़ करने और ऐड रेवेन्यू कमाने के लिए फर्जी नैरेटिव तैयार करने के आरोपों में जांच लगातार हो रही है। फर्जी रेटिंग और टीआरपी (Fake TRP) विवाद के चलते अब ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (Broadcast Audience Research Council) ने अगले 12 हफ्तों यानी तीन महिनों के लिए टीवी चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग पर रोक लगाने का फैसला किया है।

तनिष्क की ज्वेलरी ब्रांड पर आई आंच, मिली धमकियां

पिछले कुछ दिनों में फर्जी रेटिंग और टीआरपी (Fake TRP) के लिए किए जा रहे कथित घोटाले पर बड़ा विवाद खड़ा हो गया है और इसकी चपेट में बड़े से लेकर छोटे न्यूज चैनल भी आए हैं। इन सब के बाद BARC एजेंसी ने अपने सिस्टम की पूरी तरह जांच करने के लिए तीन महीनों के लिए साप्ताहिक रेटिंग रोक दी है। बता दें कि ये रेटिंग्स का निलंबन अंग्रेजी, हिंदी, क्षेत्रीय भाषाओं और बिजनेस न्यूज चैनलों पर लागू होगा।

7 महीने बाद खुलेंगे मल्टीप्लेक्स, जानिए क्या है गाइडलाइन

जानकारी के लिए बता दें कि मुंबई पुलिस ने पहले दावा किया था कि रिपब्लिक टीवी (Republic TV) और दो मराठी चैनलों ने टीआरपी में हेरफेर की है। पुलिस ने बताया कि कथित टीआरपी स्कैम के सिलसिले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें दो मराठी चैनलों के मालिक भी शामिल हैं। ये कथित फर्जी टीआरपी घोटाला तब सामने आया जब रेटिंग्स एजेंसी बीएआरसी ने ‘हंसा रिसर्च ग्रुप’ (Hansa Research Group Pvt Ltd) के जरिए शिकायत दर्ज कराई और आरोप लगाया कि कुछ टीवी चैनल टीआरपी की संख्या में हेरफेर कर रहे हैं।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here