सावन के महीने में ऐसे बनाए अपनी लाइफस्टाइल

6 जुलाई से सावन का महीना आरंभ हो चुका है। हिंदू धर्म में सावन के महीने का विशेष महत्व है। पंचांग के अनुसार इस बार सावन के महीने में चार नहीं पांच सोमवार पड़ रहे हैं। सावन के महीने अनुशासित जीवन शैली को अपनाने पर जोर दिया जाता है।

0
240
Sawan Month Lifestyle

New Delhi: सावन के महीने में भगवान शिव (Lord Shiv) की पूजा की जाती है, ये महीना शिव को समर्पित होता है। श्रावण मास यानि सावन के महीने (Sawan Month Lifestyle) में भगवान शिव (Lord Shiv) की पूजा का विशेष फल प्राप्त होता है। इसलिए शिव भक्त सावन के महीने का इंतजार करते हैं और पूजन करते है। पूजा के साथ-साथ हमें इस महीने अपनी जीवन शैली पर भी ध्यान देना चाहिए, आइए जानतें है इससे जुड़ी कुछ बातें…

आज है सावन का पहला सोमवार, जानें कैसे करे पूजा

सावन के महीने (Sawan Month Lifestyle) में वर्षा होने से सूरज और चंद्रमा की शक्ति कम हो जाती है। जिस कारण मौसम में उमस बनी रहती है। इस मौसम में संक्रमित बीमारियों के पनपने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इस महीने विशेष सावधानी और सर्तकता बरतनी चाहिए।

स्वस्थ रहने के लिए हर रोज अपनाएं ये 10 नियम

माना जाता है कि सावन के महीने में रात का रखा हुआ भोजन नहीं करना चाहिए। सावन के महीने में भोजन आसानी से नहीं पचता है। भोजन सही तरह से न पचने के कारण कई तरह की रोग होने की संभावना बनी रहती है। इस मौसम में मसालेदार और तैलीय युक्त भोजन नहीं करना चाहिए। इस महीने दूध और दही प्रयोग बहुत सावधानी से करना चाहिए। सावन में दही न खाने की सलाह दी जाती है। हरी सब्जियों के सेवन से भी इस महीने बचना चाहिए।

मानसून में बढ़ाएं इम्युनिटी, इन सुपर डाइट का करें इस्तेमाल

वर्षा ऋतु में बीमारी जल के रास्ते शरीर में प्रवेश करती है इसलिए इस मौसम में स्वच्छ जल ही ग्रहण करना चाहिए। इस मौसम में जल की शुद्धता पर विशेष ध्यान देना चाहिए। सावन के महीने में मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। इन चीजों का त्याग कर सात्विक भोजन करना चाहिए।

सावन के महीने में किसी की बुराई न करें और न ही क्रोध करें। मान्यता है कि यह महीना मन को शुद्ध करने का महीना होता है इसलिए हर प्रकार की बुराई और गलत आदतों का त्याग करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here