पीएम मोदी ने बताया, क्यों भारत में रोबोट नहीं मानव पैदा होते हैं…

पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत जय श्रीराम से की। उन्होंने कहा कि भारत उत्सवों की भूमि है और शायद ही 365 दिन में कोई एक दिन हो जहां भारत में कोई उत्सव ना मनाया जाता हो।

0
79

विजयादशमी के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के द्वारका सेक्टर-10 में रावण दहन कार्यक्रम में शिरकत की। पीएम मोदी यहां पर 107 फीट रावण के पुतले का दहन किया। पीएम मोदी के साथ दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी और पश्चिमी दिल्ली से सांसद प्रवेश वर्मा के अलावा कई अन्य नेता मौजूद रहे। रावण दहन से पहले पीएम मोदी ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित किया और सभी को विजय दशमी की शुभकामनाएं दीं।

पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत जय श्रीराम से की। उन्होंने कहा कि भारत उत्सवों की भूमि है और शायद ही 365 दिन में कोई एक दिन हो जहां भारत में कोई उत्सव ना मनाया जाता हो। उत्सव हमें जोड़ते हैं, मोड़ते हैं और उमंग भी भरते हैं। उत्सव हमारे अंदर उत्साह भी भरते हैं और हमारे सपनों को सजने का सामर्थ्य भी देते हैं। ये हमारे रगों में धड़कता है। उन्होंने कहा कि हजारों साल की सांस्कृतिक परम्परा के कारण हमारे देश में उत्सव ही संस्कार, शिक्षा और सामूहिक जीवन का प्रशिक्षण देते हैं। कला, साधना ने उत्सवों को जीवंत किया तभी हमारे यहां रोबोट नहीं मानव पैदा होते हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले नौ दिनों में हमने मां दुर्गा की पूजा की। शक्ति की साधना, उपासना और आराधना का पर्व नवरात्रि है। मोदी ने कहा कि नवरात्रि आंतरिक शक्ति को संचित करने और कमज़ोरियों को दूर करने की साधना है। उस भावना को आगे बढ़ाते हुए, हमें हमेशा महिलाओं के सम्मान के साथ-साथ सशक्तिकरण को आगे बढ़ाने की दिशा में काम करना चाहिए। हर मां बेटी का सम्मान, गर्व और गरिमा को बनाए रखना हर नागरिक की ज़िम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि हम चुनौती देने वाले भी और समयानुसार खुद को बदलने वाले भी हैं। हम खुद ही बुराइयों के खिलाफ खड़े होते हैं। बुराइयों के खिलाफ खड़े होने वाले ही संत होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here