दिल्लीवासी भी इन ऐतिहासिक इमारतों से होंगे अनजान, एक तो है बेहद खास

राजधानी दिल्ली पुराने समय से ही ऐतिहासिक स्थलों की भूमि है। यहां अनेक ऐसी जगह हैं, जो लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। दिल्ली का लाल किला और अक्षर धाम तो ज्यादातर लोगों ने देखा ही होगा, लेकिन कई जगह ऐसी हैं जिनके बारे में शायद दिल्ली वाले भी नहीं जानते होंगे। चलिए जानते हैं कौन-सी हैं ये जगह-

0
138

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली पुराने समय से ही ऐतिहासिक स्थलों की भूमि है। यहां अनेक ऐसी जगह हैं, जो लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। दिल्ली का लाल किला और अक्षर धाम तो ज्यादातर लोगों ने देखा ही होगा, लेकिन कई जगह ऐसी हैं जिनके बारे में शायद दिल्ली वाले भी नहीं जानते होंगे। चलिए जानते हैं कौन-सी हैं ये जगह-

किला राय पिथौरा


पृथ्वी राज चौहान द्वारा बनवाया गया किला राय पिथौरा को शायद ही कोई जानता हो, लेकिन महरौली के पास बने इस किले का अपना खास महत्व है। ये किला 11वीं शताब्दी में बनाया गया था। इसके अंदर पृथ्वी राज चौहान की प्रतिमा भी देखी जा सकती है। अब इस किले को हेरिटेज पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है।

इल्तुतमिश का मकबरा

Image result for इल्तुतमिश का मकबरा
कई लोगों को कुतुबमीनार स्थित प्राचीन दिल्ली की इस इमारत के बारे में पता भी नहीं होगा। ये अपनी सादगी और वास्तुकला के लिए जानी जाती है। कुछ साल पहले से ही ये पर्यटकों के लिए खोला गया है।

रजिया-अल-दीन मकबरा

Related image
रजिया बेगम सुल्तान का ये मकबरा दिल्ली में एक रहस्य की तरह है। दिल्ली की पहली बहादुर महिला शासक का ये मकबरा तुर्कमान गेट के पास स्थित है। रजिया को उन्ही के पति की सेना ने मार गिराया और यहीं दफ्न भी कर दिया  गया।

गंधक की बावली

Image result for गंधक की बावली
कुछ-कुछ अग्रसेन की बावली की तरह ही दिखने वाली गंधक की बावली से भी लोग शायद अनजान होंगे। इस बावली का निर्माण 13वीं शताब्दी में इल्तुतमिश ने कराया था। ये महरौली में स्थित है। इस बावली में सल्फर मिले होने के कारण इसमें एक तरह की गंध आती है, इसी वजह से इसको गंधक वाली बावली भी कहा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here