कुंवारे लोगों को कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा, रिसर्च ने किया खुलासा

स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कुंवारे लोगों में कोरोना का खतरा ज्यादा बढ़ रहा है।

0
222
Unmarried  People
कुंवारे लोगों को कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा, रिसर्च ने किया खुलासा

New Delhi: कोरोना का डर लोगों में लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जो आज हम आपको बताने जा रहे हैं ये पढ़कर आपको थोड़ा अटपटा लगेगा कि किसी का कुंवारा होना उसके लिए खतरे की बात है। कुंवारे लोगों (Unmarried  People) में कोरोना का खतरा बढ़ (Corona Death Risk) रहा है। जी हां, हाल ही में एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। स्वीडन की यूनिवर्सिटी ऑफ स्टॉकहोम के शोधकर्ताओं ने इसे लेकर चेतावनी भी दी है।

स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कुंवारे लोगों (Unmarried  People) के अलावा लो इनकम, कम पढ़े-लिखे और कम या मध्यम आय वाले देशों में कोरोना वायरस (Coronavirus) से मौत की संभावनाएं ज्यादा हैं। कोरोना की चपेट में आने के बाद शादीशुदा लोगों की तुलना में अविवाहित लोगों में मृत्यु का खतरा अधिक होता है। ये स्टडी ‘स्वीडिश नेशनल बोर्ड ऑफ हेल्थ एंड वेलफेयर’ द्वारा स्वीडन में कोविड-19 से हुई रजिस्टर्ड मौतों के डेटा पर आधारित है।

क्या सर्दी-खांसी है कोरोना के लक्षण? जानिए शोध की जुबानी

आपके आस-पास परिवार, रिश्तेदारी या दोस्तों में ऐसे युवा बड़ी संख्या में होंगे जिन्हें शादी करने में कोई इंट्रस्ट नहीं है। यदि आप इन युवाओं की लाइफस्टाइल और हेल्थ फैक्टर्स पर गौर करेंगे तो पाएंगे कि इनमें से ज्यादातर लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अन्य लोगों की तुलना में काफी कम होती है। इस कारण ये लोग संक्रामक रोगों की तुलना में बहुत जल्दी आते हैं।

बार-बार बीमार होने के कारण इनकी सायकॉलजिकल हेल्थ भी प्रभावित होती है। इसे भी एक कारण माना जाता है कि ये लोग अपने लाइफ पार्टनर को लेकर बहुत अधिक रूमानी खयाल नहीं पाते हैं और ना ही इनमें लाइफ पार्टनर को लेकर बहुत अधिक आकर्षण होता है। इसलिए ऐसे युवाओं की शादी और रिलेशनशिप में भी अन्य युवाओं की तुलना में कम रुचि होती है।

अगर चाहते है तेज दिमाग तो डाइट में शामिल करें अंडा

स्वीडन की यह रिसर्च कहती है, महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में कोरोना का खतरा दोगुना से भी ज्यादा है। लेकिन शादीशुदा हैं तो खतरा थोड़ा कम है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, जिन महिलाओं और पुरुषों की शादी नहीं हुई है, उन्हें खतरा डेढ़ से दोगुना तक ज्यादा है। लेकिन इन फैक्टर्स को पूरी तरह भारत पर लागू नहीं किया जा सकता है। क्योंकि भारत देश में शिक्षा और आय का स्तर कम होने के बावजूद, पारिवारिक सहयोग बहुत अधिक रहता है।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here