Dengue Fever: डेंगू क्या है, जानिए इसके लक्षण और किन चीजों का करें सेवन ?

0
614
Dengue
Dengue Fever symptoms

Dengue Fever: मानसून खत्म होने के बाद हर वर्ष डेंगू बुखार के मामलों में काफी बढ़ोतरी देखी जाती है. डेंगू एक मच्छर से जन्मी वायरल बीमारी है जो मादा मच्छर एडीज इजिप्टी के काटने से फैलती है.यह मच्छर निडर होता है और दिन के समय ज्यादा काटता है डेंगू में मुख्य लक्षण प्लेटलेट्स का कम होना है। डेंगू बरसात मे सबसे ज्यादा पनपता है ।

 डेंगू के लक्षण(Dengue Symptoms)

डेंगू के लक्षण है तेज बुखार, स्किन पर दाने, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द और सिरदर्द जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं. वहीं डेंगू का एक तीर्व रूप भी हो सकता है, जो गंभीर रक्तस्राव, ब्लड प्रेशर में गिरावट और कुछ मामलों में मृत्यु का कारण बन सकता है. ऊपर दिए हुए लक्षणो में से यदि आपको कुछ भी लगे तो तुरंत ही डाक्टर से संपर्क करें। ताकि यह बीमारी भयंकर रूप न ले सके। साथ ही खानपान का भी खास ख्याल रखना चाहिए, जिससे इस बीमारी से राहत पाने में मदद मिल सके. आइए बात करते है कुछ ऐसी चीजों के बारे में जिनका सेवन  से डेंगू से परहेज किया जा सकता है।

किन चीजों का रखना होगा सेवन 

नारियल पानी 

नारियल पानी बहुत फायदे फायदेमंद होता है इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स, अमीनो- एसिड, एंजाइम्स, विटामिन सी जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो आपको हाइड्रेट रख सकता है और आपकी इम्यूनिटी को भी बढ़ा सकता है. साथ ही बुखार से आई कमजोरी को भी दूर करने में मदद कर सकता है.

कीवी

कीवी एक ऐसा फ्रुट है जिसको डेंगू मे अत्यधिक सेवन के लिए बोला जाता है जिसमें पोटेशियम, फाइबर, विटामिन सी, ई और फोलेट पाया जाता है. यह शरीर के इलेक्ट्रोलाइट लेवल को संतुलित करने और इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार है.

पपीते के पत्ते का रस

पपीते के पत्तो को डेंगू बुखार के इलाज में रामबाण माना जाता है. पपीते के पत्ते में काइमोपपैन और पपेन जैसे एंजाइम्स होते हैं, जो ब्लड प्लेटलेट बढ़ाने में मददगार माने जाते हैं. डेंगू बुखार से पीड़ित व्यक्ति को प्लेटलेट्स में सुधार लाने के लिए पपीते के पत्ते का रस पीना चाहिए.

  अनार

अनार में फाइबर, विटामिन के, सी, बी, आयरन, पोटेशियम, जिंक और ओमेगा-6  फैटी एसिड जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर में खून की कमी को दूर करता है. साथ ही ब्लड प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में भी मदद कर सकता है.

हल्दी

हल्दी जैसा फायदेमंद कोई ही होगा। हल्दी मे एंटी-इंफ्लेमेटरी , एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है, जो मेटाबॉलिज्म और इम्यूनिटी को बूस्ट करता है. रात में सोने पहले हल्दी वाला दूध पीना फायदेमंद हो सकता है.

वेजिटेबल जूस

डेंगू मे मरीजो को हाइड्रेट रहना बेहद जरूरी होता है. ऐसे में उन्हें अपनी डाइट में सबसे ज्यादा तरल पदार्थ शामिल होने चाहिए. वेजिटेबल जूस एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है. सब्जियां विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होती हैं, जो आपको मजबूत करने के साथ-साथ आपको हाइड्रेट भी रख सकती है.

किन चीजों से करें परहेज

ऑयली और फ्राइड फूड्स से दूर रहें। इसमें बाजार और घर में बनने वाली सभी ऑयली और फ्राइड चीज़ें शामिल हैं। साथ ही कैफीन, कार्बोनेटेड ड्रिंक्स, तीखे और चटपटे चीजें और हाई फैट फूड्स बिल्कुल न खाएं। डेंगू मे नॉन वेज का सेवन करने से बचे। अक्सर बीमारी मे कुछ चटपटा और मसालेदार खाने का मन करते है। लेकिन डेंगू में ये खाना नुकसानदायक है। तले हुए भोजन में अधिक फैट होता है जिससे हाई ब्लैड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्रॉल का खतरा रहता है। इसलिए डेंगू में ऑयली/तला हुआ भोजन ना खाएं।

Also Read: कैसे पहचाने डेंगू के लक्षण, भूल कर भी न करें ये लापरवाही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here