भारत में वापसी के लिए चाइनीज ऐप्स ने अपनाया ये तरीका

भारत ने सबसे पहले TikTok समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था, इसके बाद जुलाई में 47 ऐप्स और फिर सितंबर में 118 ऐप्स को बैन किया गया है।

0
2116
Chinese Apps
भारत में वापसी के लिए चाइनीज ऐप्स ने अपनाया ये तरीका

Delhi: भारत ने एक के बाद एक तीन चरण में कई चाइनीज ऐप्स (Chinese Apps) को बैन किया है। हालांकि ये ऐप्स अब भारतीय यूजर्स तक पहुंचने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं। पिछले कुछ महीनों में इंडियन ऐप स्टोर्स (App Store) पर नए चाइनीज ऐप्स की बाढ़ सी आ गई है। रिपोर्ट की मानें तो इनमें उन चीनी ऐप्स के रिब्रैंडेड वर्जन भी शामिल हैं, जिन्हें भारत ने राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए बैन कर दिया था। बता दें कि भारत ने सबसे पहले TikTok समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था, इसके बाद जुलाई में 47 ऐप्स और फिर सितंबर में 118 ऐप्स को बैन किया गया है।

टिक टॉक बेन के बाद अमेरिका ने की चीन से ये मांग

रिपोर्ट में ऐसे ही कुछ ऐप्स (Chinese Apps) का जिक्र किया गया है, जो रूप बदलकर भारत में वापस आ गए हैं। उदाहरण के लिए काफी पॉप्युलर हो रहा Snack video नाम का विडियो ऐप Tencent के स्वामित्व वाली kuaishou नाम की चीनी कंपनी ने बनाया है। खास बात है कि यह बिलकुल Kwai ऐप की तरह है, जिसे भारत सरकार ने बैन कर दिया था। स्नैक विडियो ऐप को गूगल प्ले स्टोर पर 10 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड्स मिल चुके हैं। इतना ही नहीं, इस ऐप में यूजर्स को पॉप्युलर शॉर्ट-विडियो मेकिंग ऐप TikTok जैसे फीचर्स भी दिए गए हैं।

चीन दूसरे देशों के साथ युद्ध लड़ने का इरादा नहीं रखता- शी जिनपिंग

दूसरे उदाहरण की बात करें, तो भारत ने Hago ऐप को भी बैन किया था जो अनजान लोगों के साथ चैट रूम बनाने और गेम खेलने की सुविधा देता था। अब इस ऐप की जगह Ola Party नाम के ऐप ने ले ली है। इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, इसमें भले ही गेम खेलने की सुविधा तो न मिलती हो, लेकिन खास बात यह है कि ऐप में Hago यूजर्स की प्रोफाइल, फ्रेंड्स और चैट रूम्स को इंपोर्ट कर लिया है। यानी हागो यूजर्स सीधा Ola Party पर साइन-इन कर सकते हैं। बैन चाइनीज ऐप्स को लगातार नए वर्जन में लाए जाने को लेकर जब इकनॉमिक टाइम्स ने सवाल किया तो सरकार के एक सीनियर अधिकारी ने कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने कहा, ‘यह नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा हो रहा है, तो हम इस मामले को उठाएंगे।’ मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉर्मेशन टेक्नॉलजी (MeitY) ने अडवाइजरी जारी की है कोई भी बैन चाइनीज ऐप किसी भी रूप में वापस उपलब्ध नहीं होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here