UP BUDGET 2022: बदलते यूपी की बदलती ‘तस्वीर’, पेश हुआ ‘पेपरलेस बजट’….

0
66

वह पथ क्या, पथिक कुशलता क्या, जिस पथ में बिखरे शूल न हों, नाविक की धैर्य कुशलता क्या, यदि धाराएं प्रतिकूल न हों।’

UP BUDGET 2022: विकास की राह पर अग्रसर उत्तर प्रदेश आज आर्थिक रूप से और मज़बूत होने को लेकर आज यूपी की 18वी विधानसभा और योगी 2.0 का पहला बजट पेश हुआ…वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने आज यूपी विधानसभा का ‘आधुनिक’ बजट पेश किया। जब सुरेश खन्ना बजट पेश कर रहे थे, तब वो न सिर्फ लोगो की उम्मीदों और उनके सपने बल्कि तेज़ी से तरक्की की और बढ़ते उत्तर प्रदेश की एक उत्तम छवि पेश कर रहे थे।

यूपी के बजट में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कई  ऐसे एलान किये, जिसको लेकर यूपी  की प्रगति का रास्ता साफ़ नज़र आ रहा था।  साथ ही सुरेश खन्ना ने बजट सत्र में अपने भाषण की शुरुआत ने यूपी की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि -‘ यूपी की जनता ने हमे एक बार फिर से चुनके हमें अपना आशीर्वाद दिया है, उसके लिए उनका धन्यवाद…!!

छात्रों को डिजिटल सौगात..!!!

उन्‍होंने बताया कि प्रतियोगी छात्रों को अपने घर के पास ही कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के उददेश्य से राज्य सरकार द्वारा सभी मण्डल मुख्यालयों में मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का संचालन किया गया है। योजना का विस्तार प्रदेश के सभी जनपदों में किया जा रहा है योजना हेतु 30 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। युवा अधिवक्ताओं को कार्य के शुरूआती 03 सालों के लिए किताब और पत्रिका क्रय करने हेतु आर्थिक सहायता प्रदान किये जाने के लिये 10 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।

2 करोड़ स्‍मार्ट फोन-टैबलेट वितरण का है लक्ष्‍य 

वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना ने बताया कि प्रदेश के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को तकनीकी रूप से सक्षम बनाने के उद्देश्य से 5 सालों में 2 करोड़ स्मार्ट फोन या टैबलेट वितरित किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। स्वामी विवेकानन्द युवा सशक्तिकरण योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-2023 के लिये 1500 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।

यूपी बजट पर अखिलेश की पहली प्रतिक्रिया, बोले-बजट नहीं बंटवारा किया है

यूपी(UP) विधानसभा में आज पेश बजट पर अपनी पहली प्रतिक्रिया में सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह बजट नहीं बंटवारा है। सरकार ने किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा किया था लेकिन अपना कोई वादा पूरा नहीं कर पाई है।

संत रविदास और संतकबीर संग्रहालय बनेगा

वाराणसी में संत रविदास और संत कबीर संग्रहालय बनेगा। दोनों संग्रहालयों को 25-25 करोड़ के बजट का प्रस्‍ताव है। राम जन्मभूमि मंदिर सड़क निर्माण के लिए 300 करोड़,  अयोध्या में जनसुविधाओं और पार्किंग के लिए 209 करोड़,  वाराणसी में गंगा तट से काशी विश्वनाथ तक सड़क के लिए 77 करोड़,  बनारस में पर्यटन सुविधा के लिए 100 करोड़, अयोध्या में पर्यटन सुविधा के लिए 100 करोड़ का प्रस्‍ताव है। इस साल वृक्षारोपण अभियान में 35 करोड़ पेड़ लगाए जाएंगे। गोरखपुर चिड़ियाघर के लिए 50 करोड़ के बजट का प्रस्‍ताव है।

निजी ट्यूबवेल के बिजली बिल में 50% की छूट, 2 सिलेंडर मुफ्त

वित्‍तीय वर्ष 2022-23 का बजट पेश करते हुए वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना ने निजी ट्यूबवेल के बिजली बिल में 50 प्रतिशत छूट का ऐलान किया। साल में दो मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर के चुनावी वादे को पूरा कने के लिए भी बजट का प्रावधान किया गया। वित्‍त मंत्री ने कहा कि चीनी मिल स्थापना के लिए 380 करोड़ के बजट का प्रस्‍ताव है।

साथ ही ये है बड़ी घोषणाएँ(UP Budget)

  • यूपी में तीन डाटा सेंटर स्थापित करने का लक्ष्य रखा गया है। फाइबर केवल के लिए 300 करोड़ रुपए प्रस्तावित है।
  • रिंग रोड और फ्लाईओवर के लिए 600 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।
  • चिकित्सा क्षेत्र के लिए एक हजार पद निकाले जाएंगे।
  • स्कूल चलो अभियान के तहत 2 करोड़ छात्रों के नामांकन का लक्ष्या रखा गया है।
  • बुनकरों के लिए झलकारी बाई योजना को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • कल्याण सिंह के नाम से ग्राम उन्नति योजना की स्थापना की जाएगी। गांवों के सड़कों पर स्ट्रीट लाइट लगाइ जाएगी।
  • शहरी गरीब परिवारों को और गांवों में सभी को 500 रुपए में बिजली कनेक्शन दिया जाएगा
  • आईटी उद्योग नीति के तहत 40 हजार करोड़ के निवेश का लक्ष्य रखा गया है।
  • मथुरा में डेरी प्लांट लगाया जाएगा।
  • नमामि गंगे के लिए 97 करोड़ रुपए दिए जाएंगे।
  • नई चीनी मिलों के लिए 380 करोड़ रुपए प्रस्तावित।
  • गोड़ा में कृषि विश्वद्यालय की स्थापना की जा रही है।
  • कान्हा गौशाला और बेसहारा पशु के लिए 100 करोड़ दिए गए।
  • 14 मेडिकल कॉलेजों को 2100 करोड़ का बजट दिया गया।
  • लखनऊ, गोरखपुर और बंदायू में पीएसी बटालियन की स्थापना की जाएगी।
  • बुंदेलखंड में क्षेत्र में ग्रीन कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा।
  • ग्राम उन्नति योजना के लिए प्रदेश के सभी गांवों में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी।
  • आत्मनिर्भर स्वस्थ योजना के लिए 560 करोड़ रुपए दिए गए हैं।
  • राज्य कर्मचारी योजना के लिए 100 करोड़ रुपए दिए गए हैं।
  • नए मेडिकल कॉलेजों के लिए 1000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।
  • अयोध्या में सूरजकुंड के विकास के लिए 140 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।
  • आगरा मैट्रो रेल परियोजना के लिए 597 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया।
  • वाराणसी और गोरखपुर में मेट्रो के लिए 100 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है।
  • केंद्र स्मार्ट सिटी योजना के लिए दो हजार करोड़ की व्यवस्था की गई है।
  • कृषक दुर्घटना कल्याण के लिए 600 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here