UP Politics: चाचा-भतीजे के बीच ‘रार’ की ‘दीवार’ में BJP शिवपाल को लेकर चल सकती है बड़ा दांव

0
214
चाचा-भतीजे के बीच 'रार' की 'दीवार' में BJP शिवपाल को लेकर चल सकती है बड़ा दांव
सूत्रों से मिली खबर के अनुसार अखिलेश से एक बार फिर रुष्ट हुए शिवपाल सिंह यादव बीजेपी के करीबी होते हुए दिखाई पड़ रहे है।

हाल ही में हुए चुनावों में उत्तर प्रदेश की राजनीति में भाजपा ने बाजी मारी और खूब राजनीतिक सुर्खियां भी बटोरी। बुलडोज़र बाबा यानी योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर सीएम पद की शपथ ली। वहीं दूसरी ओर चुनावों में एड़ी-चोटी का जोर लगाने के बावजूद, हार का मुँह देखने वाले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए एक बार फिर ‘चिंताजनक’ खबर सामने आई है।

दरअसल, चुनावों के पहले पारिवारिक मसले को दरकिनार कर साथ आए ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘रार’ की ‘दीवार’ फिर से खड़ी होती दिखाई पड़ रही है।

शिवपाल को विधानसभा का उपाध्यक्ष बना सकती है बीजेपी 

दरअसल, सूत्रों से मिली खबर के अनुसार अखिलेश से एक बार फिर रुष्ट हुए शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) बीजेपी के करीबी होते हुए दिखाई पड़ रहे है। खबरों के मुताबिक़, BJP शिवपाल के सहारे एक बहुत बड़ा राजनीतिक दांव चल सकती है और साथ ही उन्हें विधानसभा के उपाध्यक्ष के पद पर नियुक्त कर सकती है।

इसलिए BJP में अपनी नई सियासी जमीन ढूंढ रहे शिवपाल 

सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के भाई और अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव राजनीति के काफी पुराने और पक्के खिलाड़ी रहे है। छह बार के विधायक रहे शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख हैं, लेकिन उन्होंने सपा के साइकिल चिह्न पर हाल ही में संपन्न विधानसभा का चुनाव लड़ा था.

लेकिन चुनावों के बाद अखिलेश यादव के रवैये को देखते हुए एक बार फिर शिवपाल सिंह यादव सपा से अलग होकर कही और अपनी सियासी जमीन खोज रहे है।

हाल ही में Twitter पर शिवपाल ने किया पीएम मोदी और सीएम योगी को फॉलो

अखिलेश और शिवपाल (Shivpal Singh Yadav) के बीच आपसी रार की खबरों के बीच शिवपाल यादव ने सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनथ से मुलाक़ात की थी। साथ ही साथ उसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया साइट Twitter पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को फॉलो किया, जिसके बाद बीजेपी के साथ शिवपाल की करीबियां बढ़ने  की खबरों पर भी मुहर लग गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here