“NIFTEM-K को IITs और MIT की तर्ज़ पर एक शैक्षिक गुणवत्ता केंद्र में परिवर्तित करेंगे” – डॉ ओबेरॉय

0
121
"NIFTEM-K को IITs और MIT की तर्ज़ पर एक शैक्षिक गुणवत्ता केंद्र में परिवर्तित करेंगे" - डॉ ओबेरॉय

भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के प्रतिष्ठित संस्थान राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन संस्थान (निफ्टेम-के) सोनिपत में वार्षिकोत्सव ‘एडिशिया’ का आगाज़ हुआ। इस महोत्सव का उद्देश्य छात्रों में पढ़ाई और शोध के साथ साथ कला, संस्कृति और खेलों का सामंजस्य स्थापित करना है। उद्घाटन समारोह के अवसर पर निफ्टम-के के निदेशक डॉ. हरिंदर सिंह ओबेरॉय ने संस्थान की खाद्य प्रौद्योगिकी, शिक्षा और अनुसंधान में उत्कृष्टता की प्रतिबद्धता पर जोर देते हुए कहा कि निफ्टम को IITs और MIT जैसे संस्थानों की तरह एक शैक्षिक गुणवत्ता केंद्र में परिवर्तित करना है। इसी के साथ डॉ ओबेरॉय ने IIT जैसी संस्थाओं के साथ सहयोग और AI जैसी तकनीकि के प्रयोग पर जोर दिया।

दिल्ली-एनसीआर और सोनीपत एसआरएम विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ परमजीत एस. जसवाल ने खाने को भगवान से तुलना करते हुए कहा कि खाद्य को संरक्षित करना, इसके लिए उत्तम तकनीकि का विकास करना महत्वपूर्ण है ताकि कोई भूखा सो सके। इनके अतिरिक्त उद्घाटन समारोह में हरियाणा खेल विश्वविद्यालय के कुलपति श्री अशोक कुमार और भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय खानपुर के कुलपति प्रो सुदेश ने गरिमामई उपस्थिति दर्ज कराई।

उद्घाटन समारोह के बाद विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों और खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ। साथ ही नुक्कड़ नाटक के माध्यम से समाज को जागरुक करने के साथ साथ फैली कुरीतियां को उजागर करने का सफल प्रयास किया गया। शाम में आयोजित कवि सम्मेलन में प्रतीक गुप्ता, श्रीकांत श्री, और रसिक गुप्ता और नंदिनी श्रीवास्तव ने देशप्रेम और हास्य रस से भरी कविताओं का पाठ किया। इसके बाद स्टैंड-अप कमेडियन माधव महेंद्रु ने छात्रों को ठहाके लगाने पर मजबूर कर दिया और देर रात चली ‘कश बैंड’ की मनमोहक प्रस्तुति पर छात्र जमकर थिरके। महोत्सव के अंतिम दिन रविवार को डीजे रिआ अपनी प्रस्तुति देंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here