कोरोना महामारी के चलते इस तरह चल रही है गणेश चतुर्थी की तैयारी

कोरोना वायरस के चलते इस बार गणेश चतुर्थी के सामूहिक आयोजनों पर रोक रहेगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोविड-19 के मद्देनजर त्योहार से पहले जिला मैजिस्ट्रेटों को निर्देश जारी किए हैं।

0
326
Ganesh Chaturthi 2020

New Delhi: कोरोना महामारी के असर हर त्योहार पर पड़ रहा है। इस साल गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2020) 22 अगस्त को है। कोरोना वायरस के चलते इस बार सामूहिक आयोजनों पर रोक रहेगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोविड-19 के मद्देनजर त्योहार से पहले जिला मैजिस्ट्रेटों को निर्देश जारी किए हैं।

किस दिन से शुरू हो रहा है गणेश चतुर्थी का त्योहार, जानें पूजा विधी

निर्देशों के मुताबिक, गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2020) के दौरान सार्वजनिक स्थानों पर भगवान गणेश की मूर्ति स्थापित न करने को कहा गया है।वहीं कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के कारण इस बार गणपति उत्सव (Ganesh Chaturthi 2020) के दौरान बप्पा के ऑनलाइन दर्शन किए जाएंगे। अधिकतर पूजा पंडालों ने जूम, फेसबुक और गूगल के जरिये गणपति के दर्शन और पूजन की ऑनलाइन व्यवस्था की है।

हर साल गणेश चतुर्थी पर लोग घरों, मंदिरों या पंडाल में गणपति की स्थापना कर पूरे धूमधाम से यह त्यौहार मनाते हैं। कुल दस दिनों के इस त्योहार में भक्त अपने घर में भगवान गणेश की स्थापना करते हैं। पांच, सात या ग्यारह दिन के लिए गणपति की स्थापना की जाती है। इसके बाद गणपति का विसर्जन किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि किसी भी शुभ काम को करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है। भगवान गणेश का एक नाम विघ्नहर्ता भी है। इन्हें गणपति, विनायक भी कहा जाता है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते लोग अपने घरो में रहकर ही पूजा करेंगे।

इस तरह बनाएं Ganesh Chaturthi के मौके पर बप्पा के पसंदीदा मोदक

वहीं इस बार कोरोना का असर मूर्तिकारों में भी देखने को मिल रहा है। मूर्तिकारों के यहां सन्नाटा पसरा हुआ है। पिछले वर्ष के मुकाबले मूर्ति की ब्रिकी न के बराबर हो रही है। गणेश पंडाल सजाने की अनुमति न मिलने के चलते पूजा समिति ऑनलाइन दर्शन कराने की तैयारी में जुटी है। वहीं मूर्तिकारों का कहना है कि इस साल भगवान गणेश की मूर्ति की ब्रिकी का काम-धंधा चौपट है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here