सबसे बड़े आतंकी ‘बगदादी’ की मौत, अमेरिकी सेना की कामयाबी की ये थी खास वजह….

दुनिया के सबसे बड़े आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के सरगना अबु बकर अल-बगदादी की मौत को लेकर एक नए खुलासा हुआ है। जिसमें सामने आया है कि बगदादी को मरवाने में उसके ही सहयोगी का हाथ है।

0
63
Abu bakr al baghdadi

दुनिया के सबसे बड़े आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) के सरगना अबु बकर अल-बगदादी की मौत को लेकर एक नए खुलासा हुआ है। जिसमें सामने आया है कि बगदादी को मरवाने में उसके ही सहयोगी का हाथ है।

बता दें कि ईराक के दो वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से कबर है कि खुफिया एजेंसियों को फरवरी 2018 में इस संबंध में बड़ी सफलता मिली थी। उसके ही एक करीबी सहयोगी इस्माइल अल-इथावी ने बताया था कि वह कैसे बीते कई सालों से सुरक्षा बलों की पकड़ से बाहर है।

खबर के अनुसार, अधिकारियों ने बताया कि बगदादी के सहयोगी ने बताया था कि बगदादी कई बार सब्जियों से लदी गाड़ियों में बैठकर अपने लड़ाकों से रणनीतिक चर्चाएं करता था ताकि गिरफ्तारी से बचा जा सके। इथावी को तुर्की अथॉरिटीज ने गिरफ्तार कर इराकी सुरक्षा बलों को सौंप दिया था।

इथावी ने कई अहम जानकारियां दी थीं, जिनके जरिए कई इराकी एजेंसियों ने बगदादी और उसके ठिकानों के बारे में कई अहम कड़ियों को सुलझा लिया। गौरतलब है कि अबु बकर अल-बगदादी की मौत की पुष्टि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की है।

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में मीडिया से बात करते हुए कहा, पिछली रात अमेरिका दुनिया के नंबर एक आतंकी को इंसाफ के दायरे में लाया। अबु बकर अल-बगदादी मारा गया। वह दुनिया के सबसे खूंखार और हिंसक संगठन का संस्थापक और सरगना था।

ट्रंप ने कहा है कि बगदादी के साथ उसके तीन बच्चे और कई सहयोगी भी मारे गए हैं। उन्होंने बताया कि बगदादी सीरिया की एक सुरंग में छिपा हुआ था। जो सेना के कमांडोज से घिर जाने के बाद बगदादी ने खुद को बच्चों सहित उड़ा लिया।

ट्रंप ने कहा कि बगदादी फिर कभी किसी निर्दोष महिला, व्यक्ति और बच्चे को नुकसान नहीं पहुंचा सकेगा। वह एक कुत्ते और डरपोक की मौत मरा गया है।

दुनिया अब पहले से ज्यादा सुरक्षित है। ट्रंप ने आईएसआईएस के खिलाफ लड़ाई में सहयोग के लिए रूस, सीरिया और तुर्की को भी शुक्रिया कहा। ट्रंप ने कहा कि वह ऑपरेशन को देख रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here