कमलेश तिवारी की हत्या के बाद ISI के निशाने पर हिन्दू नेता, पुलिस को मिले इनपुट…

हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अन्य हिन्दू नेताओं व राजनेताओं की हत्या का षड्यंत्र रचने के इनपुट दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को करीब दो दिन पहले खुफिया विभाग से मिले हैं।

0
644
Symbolic pic

हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अन्य हिन्दू नेताओं व राजनेताओं की हत्या का षड्यंत्र रचने के इनपुट दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को करीब दो दिन पहले खुफिया विभाग से मिले हैं। दरअसल, हिन्दूवादी और आरएसएस समेत कई नेता पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के निशाने पर हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI जेहादी बनाकर नेताओं पर हमला करवा सकती है। इनपुट मिलने के बाद हिंदू नेताओं, आरएसएस के पदाधिकारी और राजनेताओं की सुरक्षा की समीक्षा शुरू की गई है। गृहमंत्रालय के आदेश पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल इसको लेकर समीक्षा कर रही है।

माना जा रहा है कि हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या भड़काऊ भाषण देने की वजह से की गई थी। स्पेशल सेल के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि यह देखा जा रहा है कि कमलेश तिवारी की हत्या में आईएसआई का कहां तक हाथ है।

दअसल, कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाले भारत के संविधान से अनुच्छेद 370 खत्म करने को लेकर व हिंदुओं के पक्ष में भाषण देने वाले नेता, आरआरएस नेता व राजनेता ISI के निशाने पर हैं। इन नेताओं को आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल द्वारा हमला करवाया जा सकता है।

पुलिस अधिकारी के हवाले से खबर है कि इससे पहले भी इनपुट्स मिल चुके हैं कि आईएसआई के निर्देश पर लश्कर व जैश ए मोहम्मद के आतंकी, सेना की वर्दी में उत्तर भारत में हमलों को अंजाम दे सकते हैं।

आतंकी, दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में दिल्ली पुलिस समेत एनआईए, अर्द्धसैनिक बलों के कार्यालय, आवासीय परिसर व ट्रेनिंग सेंटरों पर हमला कर सकते हैं। इस कारण उत्तर भारत में पुलिस थानों, आवासीय परिसर व अकादमी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आईएसआई आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल भी हिंदू नेताओं व राजनेताओं पर हमला कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here