Karnataka: प्रज्वल रेवन्ना सेक्स स्कैंडल में सनसनीखेज खुलासे, पेन ड्राइव में 3 हजार से ज्यादा अश्लील वीडियो मिले

0
1624

Karnataka: पुलिस के मुताबिक हासन में लोगों के बीच बांटे गए एक पेन ड्राइव में 2,976 से ज्यादा वीडियो क्लिप थे, जिनमें से कुछ की अवधि कुछ सेकंड की थी और कुछ की अवधि कुछ मिनटों की थी.

कर्नाटक में सबसे बड़ा सेक्स स्कैंडल सामने आया, जिसने कर्नाटक के सियासी गलियारों में भूचाल सा ला दिया. अश्लील वीडियो को लेकर विवादों में आए कर्नाटक की हासन सीट से मौजूदा जनता दल सेक्यूलर (JDS) सांसद और उम्मीदवार प्रज्वल रेवन्ना पर यौन उत्पीड़न का केस दर्ज हुआ है. प्रज्वल रेवन्ना के कई अश्लील वीडियो सामने आने की बात कही गई.इस मामले में रोज नए खुलासे हो रहे है.

प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के पोते और जेडीएस नेता प्रज्वल रेवन्ना के मामले में कर्नाटक पुलिस ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं.पुलिस के मुताबिक हासन में लोगों के बीच बांटे गए एक पेन ड्राइव में 2,976 से ज्यादा वीडियो क्लिप थे, जिनमें से कुछ की अवधि कुछ सेकंड की थी और कुछ की अवधि कुछ मिनटों की थी.

उधर, एसआईटी ने सोमवार को जांच शुरू कर दी है. शुरुआती जांच से पता चला है कि अधिकांश वीडियो 2019 के बाद बेंगलुरु और हासन में उनके आवास के एक स्टोररूम में मोबाइल फोन से शूट किए गए थे. पुलिस ने उनकी सत्यता की जांच के लिए कुछ पेन ड्राइव को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा है.

कर्नाटक में कांग्रेस सरकार ने कथित सेक्स स्कैंडल की जांच के लिए रविवार को एक विशेष जांच दल का गठन किया था. आईपीएस अधिकारियों की तीन सदस्यीय एसआईटी का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सीआईडी) बिजय कुमार सिंह कर रहे हैं, जबकि अन्य दो सदस्य सहायक पुलिस महानिरीक्षक सुमन डी. पेन्नेकर और मैसूर की पुलिस अधीक्षक सीमा लाटकर हैं.

प्रज्वल के आते ही छिप जाती महिलाएं (Karnataka)

शिकायत में कहा गया कि रेवन्ना अपनी पत्नी के ना होने पर अकेले बुलाते थे. साथ ही फल देने के बहाने से गलत तरीके से छूते थे. वहीं, महिलाओं में प्रज्वल रेवन्ना का खौफ ऐसा था कि उसके आते ही महिलाएं स्टोर रूम में छिप जाती थीं.

पार्टी से निष्कासन पर फैसला आज (Karnataka)

पार्टी ने प्रज्वल रेवन्ना को निलंबित करने का फैसला किया है.मंगलवार को हुबली में कोर कमेटी की बैठक में इसकी अनुशंसा की जाएगी.चूंकि प्रज्वल संसद सदस्य हैं, इसलिए इसे दिल्ली से किया जाना है.

वहीं एचडी कुमारस्वामी ने पूरे विवाद में अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा सहित परिवार के अन्य सदस्यों का नाम घसीटे जाने पर कड़ी आपत्ति जताई. उन्होंने कहा, यहां एक व्यक्ति और उसके कार्यों का सवाल है, परिवार का नहीं. मामले में कांग्रेस द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा का नाम घसीटे जाने को भी उन्होंने गलत बताया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here