यूपी के पूर्व IAS अधिकारी के घर CBI का छापा, अरबों की संपत्ति जब्त

अवैध खनन के मामले में CBI  ने पूर्व आईएएस अधिकारी सत्येंद्र सिंह के अलावा अन्य 9 लोगों के खिलाफ भी एफआईर दर्ज की है।

0
465
Illegal mining
अवैध खनन के मामले में CBI  ने पूर्व आईएएस अधिकारी सत्येंद्र सिंह के अलावा अन्य 9 लोगों के खिलाफ भी एफआईर दर्ज की है।

Lucknow: अवैध खनन (Illegal mining) के मामल में CBI ने UP के पूर्व आईएएस अधिकारी के घर छापा मारा। इस दौरान CBI को पूर्व IAS के घर से अरबों रूपये की संपति से जुड़े कागज बरामद हुए। अवैध खनन के मामले में CBI ने पूर्व आईएएस अधिकारी सत्येंद्र सिंह (Satendra Singh) के अलावा अन्य 9 लोगों के खिलाफ भी एफआईर दर्ज की है।

किसानों के समर्थन में अमेरिकी सिंगर ने किया Tweet, तो कंगना ने दिया ये जवाब

कौशांबी के जिलाधिकारी रहे सत्येंद्र सिंह के घर CBI ने छापा मारा। यह छापेमारी अवैध खनन को लेकर की गई सत्येंद्र सिंह के अलावा उनके करीबी रिश्तेदारों के लखनऊ, कानपुर, गाजियाबाद और दिल्ली में नौ ठिकानों पर मंगलवार को छापेमारी की

क्या था मामला-

दरअसल यह मामला कथित तौर पर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) सरकार के कार्यकाल के दौरान का था। वर्ष 2012-14 में कौशांबी के तत्कालीन जिलाधिकारी रहे सत्येंद्र सिंह ने यूपी सरकार के 31 मई, 2012 के आदेशों में उल्लिखित ई-टेंडरिंग प्रक्रिया का पालन किए बिना कौशाम्बी (Kaushambi) में लघु खनिज के दो नए पट्टों का आवंटन किया था। इसी के साथ नौ पट्टों का नवीनीकरण अपने खास लोगों के पक्ष में कर दिया। जिसके बाद वर्ष 2016 में इलाहबाद उच्च न्यायालय (High Court) ने ने सीबीआई को राज्य में अवैध खनन के मामलों की जांच करने का निर्देश दिया था। CBI ने पूर्व आईएएस सत्येद्रं सिंह के अलावा 9 अन्य लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर छापेमारी की है।

UP पुलिस ने मुर्दे को भेजा शांति भंग का नोटिस, कहा-कोर्ट में जमा करें जुर्माना राशि

अरबों की संपति बरामद-

CBI को छापेमारी के दौरान पूर्व IAS सत्येंद्र सिंह (Satendra Singh) के घर से CBI अरबों रूपये की संपति से जुड़े डाक्यूमेंट हाथ लगे। CBI की छापेमारी में 6 बैंक लाकर, 10 लाख रूपये नगद, 2.11 करोड़ रुपये कीमत के सोने के जेवर समेत 36 बैंक खातों की जानकारी मिली है। बता दें कि पूर्व आईएएस अधिकारी सत्येंद्र सिहं अखिलेश यादव के करीबी माने जाते है। कौशांबी के अलावा सत्येंद्र सिहं लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और लखनऊ के डीएम (DM) भी रह चुके हैं।

क्राइम से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Crime News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here