हाथरस केस में मारी गई लड़की की वायरल तस्वीर का सच, दो साल पहले हो चुकी है मौत

हाथरस गैंगरेप को लेकर सोशल मीडिया पर जो लड़की की तस्वीर वायरल हो रही है, असल में वह लड़की की दो साल पहले मौत हो गई थी।

0
353
Viral Photo Reality
हाथरस केस में मारी गई लड़की की वायरल तस्वीर का सच, दो साल पहले हो चुकी है मौत

New Delhi: उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप केस (Hathras Gangrape Case) को लेकर सोशल मीडिया पर एक लड़की की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि यह हाथरस वारदात की पीड़िता की तस्वीर है। लेकिन जिस लड़की को सोशल मीडिया में हाथरस पीड़ित बताया जा रहा है वो असल में वह लड़की चंडीगढ़ की मनीषा (Viral Photo Reality)  है। जिसकी दो साल पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी।

बलरामपुर में गैंगरेप के बाद रिक्शे पर डालकर भेजा घर, पीड़िता की मौत

मनीषा के पिता ने कहा कि देश के लोग भले ही इन तस्वीरों को सोशल मीडिया में पोस्ट कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर रहे हैं, लेकिन इसका खामियाजा घरवालों को उठाना पड़ रहा है। हमारे जख्म फिर ताजा हो गए हैं, जो अपनी जवान बेटी के चले जाने का गम भुलाने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन हाथरस गैंगरेप केस की पीड़िता की तस्वीर (Viral Photo Reality)  के बार-बार आंखों के सामने आने से परिवार के लोग परेशान हैं।

बता दें कि मनीषा यादव की दो साल पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी। मनीषा उत्तर प्रदेश के अयोध्या की रहने वाली थी और उसके भाई अजय यादव के मुताबिक यह फोटो भी उसके गांव की ही है। रिपोर्ट के मुताबिक अजय का कहना है कि मनीषा की शादी चंडीगढ़ में हुई थी और चंडीगढ़ के अस्पताल में इलाज के दौरान लापरवाही की वजह से उसकी जान गई थी।

हाथरस में धारा 144 लागू, राहुल, प्रियंका ने सीएम पर किया प्रहार

वहीं उनके परिवार के लोग अस्पताल के खिलाफ मुकदमा लिखवाना चाहते थे लेकिन पुलिस एफआईआर लिखने में आनाकानी कर रही थी। तभी अजय और उसके दोस्तों ने सोशल मीडिया पर इस फोटो के जरिये ‘जस्टिस फॉर मनीषा’का कैम्पेन चलाया था। मनीषा यादव का परिवार चंडीगढ़ की रामदरबार कॉलोनी में रहता है। मनीषा की 21 जून 2018 को शादी हुई थी। उसे पथरी की बीमारी थी और दिनों दिन बीमारी बढ़ती गई।

22 जुलाई 2018 को मनीषा की मौत हो गई। मनीषा के पिता ने बुधवार को चंडीगढ़ के एसएसपी को इस संबंध में शिकायत दी है और कहा कि सोशल मीडिया पर उनकी बेटी की तस्वीरें वायरल होने से रोका जाए। अगर कोई ऐसा कर रहा है तो उन पर कार्रवाई की जाए। बता दें कि उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड की पीड़िता ने 29 सितंबर, 2020 की सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। 14 सितंबर को चार लोगों ने इस लड़की का कथित तौर सामूहिक बलात्कार किया था।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here