गैंगरेप पीड़िता की नहीं की एफआईआर दर्ज, महिला ने की आत्महत्या

हाथरस की निर्भया का केस सुलझा भी नही है, तो वहीं दूसरा केस मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर से सामने आया है।

0
217
Gangrape with dalit women
हाथरस की निर्भया का केस सुलझा भी नही है, तो वहीं दूसरा केस मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर से सामने आया है।

Madhya Pradesh: एक तरफ हाथरस की निर्भया का केस सुलझा भी नही है, तो वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर से गैंगरेप (Gangrape with dalit women) का मामला सामने आया है। नरसिंहपुर गांव में एक दलित महिला के साथ गैंगरेप हुआ है। अहम बात यह है कि पीड़ित महिला 4 दिनों से एफआईआर दर्ज करने की अपील कर रही थी, लेकिन अब तक इस घटना पर पुलिस प्रशासन सोता हुआ नजर आ रहा है। आपको बता दें पीड़ित महिला की एफआईआर (Gangrape with dalit women) तक दर्ज नही की जा रही थी। जिसके चलते निराश होकर रेप पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 

हाथरस केस में मारी गई लड़की की वायरल तस्वीर का सच, दो साल पहले हो चुकी है मौत

इस मामले के तूल पकड़ने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एडिशनल एसपी और एसडीओपी को हटाने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा एफआईआर (Gangrape with dalit women) नहीं लिखने वाले चौकी प्रभारी के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने का निर्देश भी सीएम ने दिया है। पूरा मामला 28 सितंबर का है जब नरसिंहपुर के रिछाई गांव में रहने वाली दलित महिला खेत में घास काटने गई थी तभी अचानक पड़ोस में रहने वाले तीन आरोपियों (Gangrape with dalit women) ने वहीं पर उसके साथ गैंगरेप किया। परिजनों का आरोप है कि वे शिकायत लिखाने के लिए गोटिटोरिया चौकी और चीचली थाने के चक्कर लगाते रहे, लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की। 

अगले दिन जब पीड़िता के परिवार वाले मेडिकल रिपोर्ट के साथ थाने पहुंचे तो पुलिस ने परिजनों को ही थाने में बिठा कर रख लिया। पीड़िता (Gangrape with dalit women) के साथ गाली-गलौज की और परिजनों को छोड़ने के बदले में पैसे मांगे। पीड़िता के पति और ससुर का कहना है कि पुलिस ने गाली-गलौज करने के बाद उनके खिलाफ धारा 151 लगा दी। उन्हें रात 9 बजे तक थाने में रोककर रखा और पैसे लेने के बाद ही घर जाने दिया।

इसके बाद चार दिन तक पुलिस वाले पीड़िता (Gangrape with dalit women) और परिजनों को भटकाते रहे और अंत में उसने अपनी जान दे दी। इस बीच मामला तूल पकड़ता देख मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने शुक्रवार देर रात तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश पर एडिशनल एसपी और एसडीओपी को पद से हटा दिया गया है। एफआईआर नहीं लिखने वाले चौकी प्रभारी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here