ATM में हो रहे बदलाव, 2000 रुपये के नोट के बंद होने की चर्चा शुरू !

0
568
Rs-2000

8 नवम्बर 2016 को हुई नोटबंदी के बाद चलन में आए 2000 रुपये के नोटों के बंद होने की चर्चा जोरों पर है. दरअसल बैंकों द्वारा अपने ATM में बदलाव किए जा रहे हैं. जानकारी के अनुसार, बैंक अपने एटीएम में 2000 के नोटों की जगह 500 के नोटों की संख्या अधिक बढ़ाने की कोशिश कर रही है. इसको लेकर एक बार फिर चर्चा जोर पकड़ रही है कि क्या 2000 रुपये के नोट बंद किए जाएंगे?

बिजनेस स्टैंडर्ड के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, देश भर के 2.40 लाख एटीएम मशीनों पर रीकैलिब्रेट कर उनमें 2000 रुपये के नोटों वाली जगह को हटाकर उनकी जगह 500 नोट रखने के लिए काम किया जा रहा है.

बता दें कि एटीएम के अंदर चार कैसेट होते हैं, जिनमें 2000, 500, 200 और 100 रुपये के नोटों को रखने की व्यवस्था होती है. अब नई व्यवस्था के अनुसार, पहले तीन कैसेट में 500 रुपये के नोट रखे जाएंगे. वहीं चौथे में 200 या 100 रुपये के नोट रखे जाएंगे.

मिली जानकारी के अनुसार, बहुत से एटीएम में 2000 वाला कैसेट हटा दिया गया है. कहा जा रहा है कि एक साल के अंदर बाकी एटीएम में से भी हटाया जा सकता है… कहा जा रहा है कि अब जो 2000 के नोट आ रहे हैं, उन्हें बैंकों के करेंसी चेस्ट में रखा जा रहा है, इसका मतलब है कि इन नोटों को रिजर्व बैंक के वॉल्ट में वापस भेजा जा सकता है.

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2017 की शुरुआत में कुल सर्कुलेटेड बैंक नोट का करीब 50 फीसदी हिस्सा 2000 के नोटों का था. लेकिन वित्त वर्ष 2019 में सर्कुलेटेड नोटों में 51 फीसदी हिस्सा 500 रुपये के नोट का हो गया.

इन सभी चर्चाओं के बीच माना जा रहा है कि 2000 रुपये के नोट कानूनी रूप से बंद नहीं होंगे, इनके सर्कुलेशन को बंद किया जैा सकता है. बैंकों के कस्टमर्स के लिए किसी भी तरह से कोई परेशानी नहीं होगी… इसके लिए एटीएम के कैसेट को बदला जा रहा है…इसी महीने पब्‍लिक सेक्‍टर के इंडियन बैंक ने अपने ग्राहकों को सूचना दी है कि उसके एटीएम मशीनों से अब 2 हजार रुपये के नोट नहीं निकलेंगे.

बैंक ने एक सर्कुलर में बताया है कि आगामी 1 मार्च से इंडियन बैंक के ATM में 2,000 रुपये नोट रखने वाले कैसेट्स को हटा दिया जाएगा. बैंक ने यह फैसला अपने ग्राहकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए लिया हैं. इंडियन बैंक का इलाहाबाद बैंक के साथ विलय होने वाला है. 1 अप्रैल से ये विलय अस्‍तित्‍व में आएगा. जिसके बाद यह 7वां सबसे बड़ा बैंक हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here