Cryptocurrency का खतरा, PM Modi बोले- “Crypto गलत हाथों में नहीं पड़ना चाहिए, युवाओं का नुकसान हो सकता है”

0
202
narendra modi
Cryptocurrency का खतरा, PM Modi का बयान- Crypto गलत हाथों में नहीं पड़ना चाहिए, युवाओं का नुकसान हो सकता है

PM Modi on Cryptocurrency: जैसा की हमारे देश में कैप्टोकोर्रेंसी (Cryptocurrency) के ज़रिये लोग अपन धंधा कर रहे और इससे सारी आर्थिक समस्यायें दूर हो रही है। वहीँ दूसरी इसके खिलाफ जाकर इसका लोग गलत इस्तेमाल भी कर रहे है। तरफ क्रिप्टोकरेंसी की सुविधा और नियम को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है। बता दें की भारत में क्रिप्टो करेंसी को लेकर गरम चर्चा चल रही है। भारत सरकार ने इसी दौरान एक फैसला लिया है अपना एक अलग स्टैंड तैयार कर रही है।

पीएम मोदी की अध्यक्षता में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर हुई बैठक भी हुई थी। पीएम मोदी ने आज सिडनी संवाद’ को डिजिटल माध्यम से संबोधित करते हुए क्रिप्टोकरेंसी के भविष्य को लेकर एक बड़ी बात कही. पीएम ने कहा कि ‘सभी देशों को यह सुनिश्चित करना होगा कि क्रिप्टो गलत हाथों में न पड़े.’ क्रिप्टोकोर्रेंसी पर विवाद को लेकर पीएम मोदी ने तब ये फैसला लिया जब संसदीय समिति ने गए रखी की क्रिप्टो को रोका नहीं जा सकता। लेकिन इसके शासन की ज़रूरत है।

क्या है क्रिप्टोकोर्रेंसी ? (Cryptocurrency)

भारत में क्रिप्टोकरेंसी कानूनी तौर पर मान्य नहीं है. लेकिन ये गैरकानूनी भी नहीं है. इसमें पैसा लगाने वालों के हितों का ख्याल रखने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. सरकार इसके लिए फ्रेमवर्क तैयार कर रही है. क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एक डिजिटल करेंसी होती है. इसका कोई रेगुलेटर नहीं है और अभी तक किसी देश में इसे कोई कंट्रोल नहीं करता. साल 2009 में शुरू होने के बाद अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में हैं, लेकिन पिछले कुछ समय से इनकी कीमतों में बड़ी तेजी देखने को मिली है.

PM Modi ने बिटकॉइन का दिया उदाहरण

पीएम मोदी ने गुरुवार को संबोधन में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कहा की ‘क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन का उदाहरण ले लीजिए. यह बहुत जरूरी है कि सभी लोकतांत्रिक देश इसपर काम करें और गलत लोग इसका गलत फायदा न उठाये। क्योंकि इससे हमारे युवा पर गलत असर पड़ेगा.’

टेकनीक और डाटा बना हतियार

बता दें की पीएम आज ‘India’s Technology: Evolution and Revolution’ विषय पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि ‘हम एक युग में होने वाले ऐसे बदलाव के दौर में हैं, जब तकनीक और डेटा हमारे नए हथियार बन रहे हैं.’ PM Modi की अध्यक्षता में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को लेकर हुई थी बैठक

बता दें कि प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने कैप्टोकरेंसी के खतरों को लेकर,शासन और दुनियाभर में इसको लेकर हुए फैसलों और चलन को चलन पर चर्चा की गयी थी। बैठक की जानकारी के अनुसार ‘सरकार इस तथ्य से अवगत है कि यह एक विकसित तकनीक है, इसलिए इसपर कड़ी निगरानी रखी जाएगी और इसपर सक्रिय कदम उठाए जाएंगे.

वहीं, इस हफ्ते की शुरुआत में वित्त मामलों में गठित संसद की स्थायी समिति (Standing Committee on Finance) की क्रिप्टो एक्सचेंज, ब्लॉकचेन. क्रिप्टो एसेट काउंसिल, उद्योग जगत के प्रतिनिधियों और अन्य संबंधित पक्षों के साथ क्रिप्टोकरेंसी के नियमन और प्रोत्साहन से जुड़े पहलू पर विचार करने के लिए एक बैठक हुई थी, जिसमें केंद्र सरकार ने माना कि वर्चुअल करेंसी पर रोक नहीं लगाई जा सकती, लेकिन इसका नियमन यानी रेगुलेशन जरूरी है.

Also Read: PM Modi ने किया है इसमें निवेश, आपको भी मिल सकता है फायदा…एक राष्‍ट्र-एक लोकपाल का सपना हुआ सच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here