पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की पहली पुण्यतिथि पर, वित्त मंत्रालय ने गिनाईं GST की उपलब्धियां

जीएसटी (GST) से कारोबारियों को काफी फायदा है और सरकार ने काफी सहूलियतें दी हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि जीएसटी की वजह से कर दरें घटी हैं।

0
306
Goods And Service Tax
पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की पहली पुण्यतिथि पर, वित्त मंत्रालय ने गिनाईं GST की उपलब्धियां

New Delhi: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को कहा कि जीएसटी (Goods And Service Tax) से कारोबारियों को काफी फायदा है और सरकार ने काफी सहूलियतें दी हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि जीएसटी की वजह से कर दरें घटी हैं, जिससे अनुपालन बढ़ाने में मदद मिली है। वित्त मंत्रालय (Ministry Of Finance) ने जीएसटी (Goods And Service Tax) से कारोबार जगत के फायदे को लेकर अपनी उपलब्धियां गिनाई हैं।

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) की पहली पुण्यतिथि पर वित्त मंत्रालय ने सोमवार को कई ट्वीट किए। गौरतलब है कि अरुण जेटली के वित्त मंत्री रहने के दौरान ही साल 2019 की जनवरी में गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स काउंसिल ने छोटे कारोबारियों को बड़ा तोहफा दिया था। कारोबारियों को बड़ी राहत देते हुए 40 लाख रुपये सालाना तक के टर्नओवर वाले कारोबार को जीएसटी से मुक्त कर दिया गया है।

NEET, JEE 2020 की परीक्षाएं दिवाली के बाद हो आयोजित- सुब्रमण्यम स्वामी

वित्त मंत्रालय की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि जीएसटी को लागू किए जाने के बाद से अधिकतर चीजों पर लगने वाले टैक्स रेट में कमी की गई है। मंत्रालय ने कहा है कि अब 28 फीसद के टैक्स स्लैब के अंतर्गत केवल विलासिता से जुड़ी चीजें एवं अहितकर वस्तुएं ही रह गए हैं। इस टैक्स स्लैब के अंतर्गत 230 वस्तुएं थी लेकिन करीब 200 वस्तुओं को कम टैक्स वाले स्लैब में शिफ्ट कर दिया गया।

मंत्रालय ने यह भी कहा कि जिस समय जीएसटी लागू किया गया था उस समय इसके तहत आने वाले करदाताओं की संख्या 65 लाख थी। आज यह आंकड़ा बढ़कर 1.24 करोड़ पर पहुंच गया है। देश में जीएसटी (GST) को एक जुलाई, 2017 को लागू किया गया था। नरेंद्र मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में अरुण जेटली वित्त मंत्री थे।

मंत्रालय ने ट्वीट किया, ‘आज हम अरुण जेटली को याद कर रहे हैं। जीएसटी के क्रियान्वयन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। इतिहास में इसे भारतीय कराधान का सबसे बुनियादी ऐतिहासिक सुधार गिना जाएगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here