भारत में मंदी की स्थिति दुनिया में सबसे खराब, जानें इस साल की अर्थव्यव्स्था

(2021-22) में भारतीय अर्थव्यवस्था 11 प्रतिशत की अच्छी हो सकती है। लेकिन उसके बाद 2022-23 से 2025-26 गिर जाएगी।

0
155
Indian Economy 2021-22
(2021-22) में भारतीय अर्थव्यवस्था 11 प्रतिशत की अच्छी हो सकती है। लेकिन उसके बाद 2022-23 से 2025-26 गिर जाएगी।

New Delhi: कोरोना महामारी की वजह से भारत की अर्थव्यव्स्था (Indian Economy 2021-22) बेहद खराब चल रही है। अगले वित्त वर्ष (2021-22) में भारतीय अर्थव्यव्स्था 11 प्रतिशत की अच्छी हो सकती है। लेकिन उसके बाद 2022-23 से 2025-26 तक भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) कि, ‘‘आपूर्ति पक्ष के साथ मांग पक्ष की अड़चनों और वित्तीय क्षेत्र की कमजोर स्थिति की वजह से भारत के घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर महामारी (Indian Economy 2021-22) की वजह से कम होती जाएगी”। 

नौकरी छोड़ते हुए नोटिस पीरियड पूरा नहीं किया तो…भरना होगा इतना GST

इस समय घरेलू उत्पाद (Indian Economy 2021-22) पर वित वर्ष 9.4 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। फिच रेटिंग्स ने कहा कि कोविड-19 संकट शुरू होने से पहले ही भारतीय अर्थव्यव्स्था नीचे आ रही थी। 2019-20 में जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 4.2 फीसदी पर आ गई थी। इससे पिछले वित्त वर्ष में ये 6.1 फीसदी रही थी। 

इस महामारी (CoronaVirus) के कारण देश में 1.5 लाख लोगों की जान गई है। हालांकि, यूरोप और अमेरिका की तुलना में भारत में महामारी की वजह से मृत्यु दर कम है, लेकिन आर्थिक प्रभाव कहीं अधिक है। चालू वित्त वर्ष की पहली अप्रैल-जून की तिमाही में देश की अर्थव्यवस्था में 23.9 फीसदी की भारी गिरावट आई थी। वहीं जुलाई-सितंबर की दूसरी तिमाही में अर्थव्यव्स्था 7.5 फीसदी नीचे आई थी। 

इस देश में मिलता है पानी से भी सस्ता पेट्रोल, भारत में सबसे ज्यादा दाम

भारत में मंदी की स्थिति दुनिया में सबसे ज्यादा गंभीर होती जा रही है। भारत के सकल घरेलू उत्पाद (Indian Economy 2021-22) की वृद्धि दर महामारी के पूर्व के स्तर से नीचे रहेगी। सख्त लॉकडाउन और सीमित वित्तीय समर्थन की वजह से ऐसी स्थिति बनी है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि अर्थव्यव्स्था की स्थिति अब सुधर रही है। अगले कुछ माह के दौरान वैक्सीन आने की वजह से इसे और समर्थन मिलेगा। लेकिन आने वाले वक्त में स्थितियां खराब हो सकती है। सरकार को बाकी मसलों के अलावा भारत की अर्थव्यव्स्था पर भी ध्यान देना चाहिए। 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Business News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here