BMW की चाइनीज पार्टनर कंपनी हुई दिवालिया, जानें पूरा मामला

चीन की कुछ कंपनियां दिवालिया होती जा रही है। यानी डिफॉल्ट हो गई हैं, जिसकी वजह से कई विदेशी कंपनियां चीन से नाराज चल रही हैं।

0
240
Business News
चीन की कुछ कंपनियां दिवालिया होती जा रही है। यानी डिफॉल्ट हो गई हैं, जिसकी वजह से कई विदेशी कंपनियां चीन से नाराज चल रही हैं।

China: चीन की कुछ कंपनियां दिवालिया होती जा रही है। यानी डिफॉल्ट हो (Business News) गई हैं, जिसकी वजह से कई विदेशी कंपनियां चीन से नाराज चल रही हैं। बता दें टॉप रेटिंग कंपनियों की भी आर्थिक हालात ठीक नहीं है। बता दें जर्मन कार मेकर BMW साल 2003 में चाइनीज मार्केट में एंट्री की थी। इसके लिए (Brilliance Auto) के साथ जाइंट वेंटर किया था। 

खराब अर्थव्यवस्थाओं में इस नंबर पर भारत, पहले पर है ब्रिटेन

जानकारी के अनुसार, इस डील में 50 फीसदी हिस्सेदारी BMW की है, 40.5 फीसदी हिस्सेदारी ब्रिलियंस ऑटो (Brilliance Auto) की और 9.5 फीसदी हिस्सेदारी Shenyang municipal government के पास 9.5 फीसदी हिस्सेदारी है। ब्रिलियंस ऑटो प्रिविंसली ओन्ड ऑटोमेकर Huachen Group की सब्सिडियरी कंपनी है।

बता दें कंपनी की हालत को लेकर कुछ पूर्व कर्मचारियों ने मैनेजमेंट को कसूरवार बताया है। उनका कहना है कि कंपनी ने केवल BMW (Brilliance Auto) की बातों को फॉलो किया। जॉइंट वेंचर में कभी एक्टिव पार्टिसिपेट नहीं किया था। वहीं अन्य स्टेट कार मेकर्स जैसे SAIC Motor और Guangzhou Automobile Group ने विदेशी कंपनियों के साथ जॉइंट वेंचर के बावजूद अपने ब्रैंड पर लगातार काम किया। इन कंपनियों ने विदेशी पार्टनर की एक्सपर्टीज का इस्तेमाल अपने लिए किया और खुद को वक्त और जरूरत के साथ बदलते रहे। 

केंद्र सरकार ने महंगाई भत्ते को लेकर दी ये अहम जानकारी  

दरअसल, कंपनी ब्रिलियंस ऑटो हांगकांग में लिस्टेड है। यह कंपनी फ्रेंच कार मेकर रेनो एसए के साथ भी जॉइंट वेंचर में है। पिछले सप्ताह BMW (Brilliance Auto) ने रॉयटर्स से कहा था कि वह जाइंग वेंचर ऑपरेशन पर इसका कोई असर नहीं होगा। कंपनी 25 फीसदी और हिस्सेदारी के लिए 2022 में 3.6 अरब यूरो या 4.2 अरब डॉलर देने के लिए तैयार है। चाइनीज कोर्ट ने हुआचेन के क्रेडिटर्स की तरफ से जमा किए गए री-स्ट्रक्चरिंग ऐप्लिकेशन को स्वीकार कर लिया है। इस ग्रुप में करीब 40 हजार लोग काम करते हैं। कंपनी की कुल असेट 190 अरब युआन है। इसमें BMW Brilliance tie-up भी शामिल है। पिछले साल इसने रेकॉर्ड 5.5 लाख कार बेची थी। कुल मुनाफा 7.6 अरब युआन हुआ था। इसमें हुआचेन को करीब 232 मिलियन डॉलर डिविडेंड के रूप में मिले थे। 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Business News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here