Char Dham Yatra 2022: केदारनाथ और यमुनोत्री यात्रा में नए कीर्तिमान स्थापित, घोड़ा-खच्चरों और डंडी-कंडी से 211 करोड़ का कारोबार, Video

0
77

Char Dham Yatra 2022: उत्तराखंड में चार धाम यात्रा ने एक बार फिर से कीर्तिमान स्थापित किया है। इस बार केदारनाथ और यमुनोत्री यात्रा में सिर्फ घोड़ा-खच्चरों, हेली टिकट और डंडी-कंडी के यात्रा भाड़े से 211 करोड़ का कारोबार हुआ है। इससे पहले ये कीर्तिमान स्थापित नहीं हुआ था।

विभागों ने दी जानकारी

इसकी जानकारी विभागों के अतिरिक्त संबंधित जिला प्रशासन से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर हुई है। प्रशासनिक अधिकारी वंशीधर तिवारी ने बताया कि इस वर्ष सिर्फ यात्रा के टिकट, घोड़ा खच्चरों और हेली और डंडी-कंडी के यात्रा भाड़े से करीब 190 करोड़ के आसपास कारोबार हुआ है।

सरकार को 8 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ

बता दे कि, पहली बार केदारनाथ धाम में घोड़े, खच्चर व्यवसाइयों ने क़रीब एक अरब नौ करोड़ 28 लाख रुपए का रिकॉर्ड कारोबार किया। जिससे सरकार को भी आठ करोड़ रूपये से अधिक राजस्व प्राप्त हुआ। यह एक बड़ा रिकॉर्ड है।

8664 घोड़े-खच्चर हुए थे पंजीकृत

उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जनपदों के प्रशासन ने 4,302 घोड़ा मालिकों के 8,664 घोड़े खच्चर पंजीकृत किए थे। इस सीजन में 5.34 लाख तीर्थयात्रियों ने घोड़े खच्चरों की सवारी कर केदारनाथ धाम तक यात्रा की। डंडी-कंडी वालों ने 86 लाख रुपए की कमाई की और हेली कंपनियों ने 75 करोड़ 40 लाख रुपए का कारोबार किया। सीतापुर और सोनप्रयाग पार्किंग से लगभग 75 लाख का राजस्व सरकार को प्राप्त हुआ।

यमुनोत्री के कपाट बंद

गुरुवार को बाबा केदार और मां श्री यमुनोत्री के कपाट विधि विधान से शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। कोविड संक्रमण काल के करीब तीन वर्ष बाद केंद्र और राज्य सरकार के प्रयासों से चारधाम यात्रा में रौनक़ देखी गई। चारधाम यात्रा ने इस वर्ष तमाम रिकॉर्ड तोड़कर नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। प्रदेश के मुखिया पुष्कर सिंह धामी ने भी इस कीर्तिमान पर खुशी व्यक्त की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here