अमेरिका ने इंजीनियर के बदले अफगानी ड्रग डीलर को रिहा किया

0
120

दुनिया में कहीं भी ड्रग के पकडे जाने पर नाम आता था अफगानी ड्रग लॉर्ड हाजी बशीर नूरज़ई (Haji Bashir Noorzai) का, ये वो शख्स है जिसे मिडिल ईस्ट का ‘पाब्लो एस्कोबार’ कहा जाता है। बशीर काफी समय से अमेरिका की जेल में बंद था, जहाँ उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। लेकिन अब उसके रिहा होने की खबर सामने आ रही है।

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक अमेरिका ने गुपचुप तरीके से कुख्यात ड्रग माफिया हाजी बशीर नूरज़ई (Haji Bashir Noorzai) को अफगानिस्तान की जेल में बंद एक अमेरिकी नागरिक की रिहाई के बदले छोड़ा है। उसकी रिहाई भारत समेत कई देशों की एजेंसियों के लिए चिंता का सबब बन गई है। ऐसा माना जा रहा है कि उसके आजाद हो जाने से ड्रग की तस्करी और कारोबार में इजाफा हो सकता है।

जानिए कौन है हाजी बशीर नूरजई?

आपको बता दें कि बशीर नूरजई (Bashir Noorzai) एक अफगानी ड्रग लॉर्ड है। वह तालिबान आंदोलन का समर्थक भी था। बाद में उसने अमेरिकी सरकार के लिए एक अंडरकवर एजेंट के रूप में काम करना शुरू कर दिया था। यही वजह थी कि अमेरिका का मोस्ट वॉन्टेड ड्रग तस्कर होने के बाद भी उसे गिरफ्तार नहीं किया जाता था। दरअसल, अमेरिकी हैंडलर के साथ वह इसी शर्त पर काम कर रहा था और तभी वो डीब्रीफिंग के लिए न्यूयॉर्क शहर आने को तैयार हुआ था।

तालिबान के हवाले से अफगानी मीडिया में रिपोर्ट आईं थी कि 16 जुलाई 2019 को संयुक्त अरब अमीरात में बशीर नूरजई को रिहा किया गया था लेकिन बाद में पता लगा कि नूरजई को जेल से रिहा नहीं किया गया था।

लेकिन अब उसकी रिहाई की बड़ी ख़बर सामने आ रही है। जिसमें तालिबान के एक प्रवक्ता के अनुसार, हाजी बशीर नूरज़ई (Haji Bashir Noorzai) को अमेरिकी नागरिक मार्क फ्रेरिच के बदले जेल से रिहा कर दिया गया है। 19 सितंबर 2022 को नूरजई अफगानिस्तान पहुंच चुका है। बशीर नूरजई को तालिबान के संस्थापक मुल्ला उमर का भी करीबी माना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here