UP Weather Update: जी का जंजाल बना पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, सैंकडों बीघा फसलें बर्बाद, पढ़िए पूरी ख़बर, Video

0
69

Purvanchal Expressway: यूपी में लगातार कई दिनों से हो रही बारिश ने भारी तबाही मचाई है। भारी बारिश से पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी लोगों के जी का जंजाल बन गया है। जल निकासी नहीं होने के चलते सैकड़ों किसानों की फसल तबाह हो गई है।

जलभराव के कारण मरी मुर्गियां

वहीं इसी क्षेत्र में दो पोल्ट्री फॉर्म में लाखों रुपए कीमत की मुर्गियां भी जलभराव के कारण मर गई हैं।  हलियापुर क्षेत्र जिला मुख्यालय से लगभग 40 KM दूर है। इस क्षेत्र के लोग लोकसभा चुनाव में अमेठी और जगदीशपुर विधानसभा में वोट करते हैं।

जलनिकासी न होने से भरा पानी

VIP क्षेत्र में वोटिंग करने के बाद भी यहां के किसानों का पुरसाहाल कोई नहीं है। 11 माह पूर्व यहां बनकर तैयार हुए पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से किसानों की खेती बड़े पैमाने पर प्रभावित होती चली आ रही है। यूपीडा के अधिकारियों से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत करके किसान हार थक गए है लेकिन, उनकी सुनवाई एक नहीं हुई।

बता दे कि, नतीजा यह हुआ कि बुधवार दिन-रात हुई बारिश यहां के सैकड़ों किसानों पर कहर बनकर टूटी पड़ी। हलियापुर कस्बा, जरईकला, कुवासी समेत दर्जनभर गांवों में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का पानी नदी की धारा की तरह बहकर आया। जिसने किसानों की धान, खीरा, उड़द आदि फसल को बर्बाद कर डाला।

स्थानीय निवासी लोगों का कहना है कि करीब 7 बीघे धान की फसल बर्बाद हुई है। एक बीघा में लगभग 4 हजार का खर्च आया था। इस तरह 28 हजार लागत की फसल जलमग्न होकर बर्बाद हो गई।

सैंकड़ों बीघा फसल बर्बाद

वही दूसरे और लोगों की माने तो उनकी 6-6 बीघे फसल बर्बाद हुई है। इसी तरह कई लोगों की फसल तबाह हुई है। स्थानीय निवासी दिवाकर का कहना है कि, वो क्षेत्र में ही पोल्ट्री फॉर्म भी चलाते हैं। जो पूर्वांचल एक्सप्रेस वे करीब है।

एक्सप्रेस-वे पर पुलिया तो बनाई गई लेकिन जल निकासी की व्यवस्था नहीं की गई। ऐसे में तेज पानी का बहाव सीधे पोल्ट्री फॉर्म में पहुंचा। जिससे 1800 GM से लेकर 2 KG तक की 5 हजार मुर्गियां और  250 GM के 5 हजार बच्चे मर गए।

एक महीने पहले ही ये बच्चे डाले गए थे। इसी तरह यहां अनूप सिंह के दो पोल्ट्री में कुल आठ हजार मुर्गी थी। दो हजार मुर्गियों को फार्म के अंदर भरे पानी से निकालकर अन्य फार्मो में पिकअप में भरकर शिफ्ट किया जा रहा है। अन्य मुर्गियां पानी में डूब गई इससे करीब 5 लाख का नुकसान हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here