UP News: दीप्ति बनकर सरकारी नौकरी करने वाली शातिर पूजा गिरफ्तार, सकते में डाल देगी फर्जीवाड़े की ये ख़बर

0
45

UP News: सरकारी नौकरी (Government Job) के लिए लोग किस तरह के फर्जीवाड़े करते हैं इसकी बानगी यूपी में एक बार फिर से देखने को मिली है। यूपी के शिक्षा विभाग (UP Education Department) में सेंधमारी कर नौकरी पाने वालों के खिलाफ सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी कार्रवाई की भेंट एक फर्ची टीचर चढ़ी है। जिसने बड़े ही शातिराना अंदाज में विभाग को गुमराह करके सरकारी नौकरी के मजे लिए।

2020 में किया था फर्जीवाड़ा

बता दे कि, इस फर्जी महिला टीचर के खिलाफ साल 2020 में कार्रवाई की गई थी। इसके बाद से यह टीचर फरार चल रही थी। कासगंज के गंजडुंडवारा ब्लॉक क्षेत्र के गांव नूरपुर में परिषदीय प्राथमिक विद्यालय है। फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर यहां पूजा नाम की युवती ने दीप्ति बनकर नौकरी हासिल कर ली थी। पोल खुलने पर उसकी शिकायत हुई। इसके बाद जांच शुरू की गई। इसमें शैक्षिक प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। शिक्षा विभाग ने 9 अक्टूबर 2020 को उसकी सेवाएं समाप्त कर दी।

खंड शिक्षा अधिकारी ने दर्ज कराया था केस

गौरतलब है कि, खंड शिक्षा अधिकारी श्रीकांत पटेल ने शिक्षिका के खिलाफ गंजडुंडवारा कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू की। एफआईआर के 20 महीने बाद पूजा पुलिस के हाथ लगी। उसको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

20 महीने बाद सलाखों के पीछे

कासगंज पुलिस का कहना है कि, आरोपी पूजा फिरोजाबाद जिले के सलेमपुर करखा की रहने वाली है। वह करीब 20 महीने से फरार थी। पुलिस लगातार उसकी गिरफ्तारी के प्रयास कर रही थी। इसी दौरान गंजडुंडवारा कोतवाली पुलिस को मुखबिर से शिक्षिका के गंजडुंडवारा रेलवे स्टेशन पर मौजूद होने की सूचना मिली। सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उसे स्टेशन से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here