UP Ayush College Fraud Admission: आयुष कॉलेज में फर्जी प्रवेश को लेकर निदेशक समेत 12 गिरफ्तारियां

0
53
UP News
UP News

UP Ayush College Fraud Admission: शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के आयुष कालेजों में 891 फर्जी छात्रों के प्रवेश के मामले में निलंबित निदेशक को गिरफ्तार कर लिया। स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने लंबी छानबीन के बाद निदेशक समेत 12 गिरफ्तारियां की है।

वेंडर कंपनी का प्रतिनिधि भी गिरफ्तार

बता दे कि, सभी आरोपियों का दाखिला लखनऊ की हजरतगंत कोतवाली में कराया गया है। इनमें डाटा फीडिंग का काम कर रही कंपनी अपट्रान पावरट्रानिक्स के कर्मचारी भी हैं। अपट्रान द्वारा द्वारा नामित वेंडर कंपनी का प्रतिनिधि कुलदीप भी पकड़ा गया है।

STF कर रही जांच

यूपी शासन ने सात नवंबर को ही इस मामले की जांच सीबीआइ (CBI) से कराए जाने की सिफारिश भी की थी। हालांकि सीबीआई ने अब तक यह केस अपने हाथ में नहीं लिया है। अभी तक (STF) लगातार जांच कर रही थी।

891 फर्जी हुए दाखिले

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश के आयुष कॉलेजों में पिछले शैक्षिक सत्र-2021 में कुल 891 फर्जी छात्रों के प्रवेश का गंभीर मामला सामने आया था, जिसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बेहद गंभीरता से लिया था। प्रकरण में तत्कालीन कार्यवाहक निदेशक, आर्युवेदिक सेवाएं प्रोफेसर एसएन सिंह की ओर से चार नवंबर को हजरतगंज कोतवाली में डाटा फीडिंग का काम कर रही कंपनी अपट्रान पावरट्रानिक्स समेत कई अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआइआर (FIR) दर्ज कराई गई थी।

CM ने STF को सौंपी थी जांच

वहीं, प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इसकी जांच एसटीएफ को सौंप दी थी, जिसके बाद से पूरे प्रकरण में शामिल लोगों की छानबीन की जा रही थी। संदेह के घेरे में आए कई लोगों से अलग-अलग पूछताछ किए जाने के साथ ही एसटीएफ ने 23 कॉलेजों के प्राचार्यों को नोटिस देकर तलब किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here