Madhya Pradesh: स्कूल टाइम के दौरान छात्रा के कपडे उतारकर घंटो खड़े रखा शिक्षक ने

0
61

Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश में 10 साल की आदिवासी छात्रा से उसकी गन्दी यूनिफॉर्म को उतारने को कहा गया। जिस अध्यापक ने ये बात कही उसे शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है। मामला मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के जयसिंहनगर ब्लॉक का है। जहाँ एक जन शिक्षा केंद्र के एक अधिकारी ने रविवार को एक कक्षा पांच की छात्रा से उसके गंदे यूनिफार्म की वजह से उसको यूनिफॉर्म उतारने के लिए कहा, जिसके बाद इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

वीडियो में आप देख सकते हैं कि घटना की एक तस्वीर में कक्षा पांच की छात्रा केवल अपने अधोवस्त्र पहनी खड़ी नजर आ रही है और शिक्षक श्रवण कुमार त्रिपाठी उसकी यूनिफॉर्म धोते हुए नज़र आ रहे हैं। इस वीडियो में छात्रा के पास में कुछ अन्य छात्राएं भी खड़ी हुई हैं।

ग्रामीणों ने जताया आक्रोश

इस घटना को लेकर कुछ ग्रामीणों ने दावा किया कि छात्रा को उसकी यूनिफॉर्म सूखने तक करीब दो घंटे तक इसी हालत में स्कूल परिसर में रहना पड़ा.था। उन्होंने बताया कि यूनिफॉर्म सूख जाने के बाद छात्रा को इसे पहनाकर कक्षा में पढ़ने के लिए भेज दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार शिक्षक त्रिपाठी ने खुद को ‘स्वच्छता मित्र’ बताते हुए अधोवस्त्र पहनी आदिवासी छात्रा के साथ अपनी फोटो खिंचवाकर उसे विभाग के सोशल मीडिया ग्रुप में साझा भी किया था।

मामले की जानकारी जब ग्रामीणों को मिली तो उन्होंने इस संबंध में स्कूल के प्रधानाध्यापक के समक्ष अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए आरोपी शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं, जनजातीय कार्य विभाग के सहायक आयुक्त ने शिक्षक त्रिपाठी को निलंबित कर दिया।

शिक्षक को किया निलंबित

जनजातीय कार्य विभाग, शहडोल के सहायक आयुक्त आनंद राय सिन्हा ने मीडिया से बातें करते हुए बताया कि शुक्रवार देर रात यह फोटो मेरे संज्ञान में आई। फोटो में देख सकते हैं कि स्कूल के सहायक शिक्षक त्रिपाठी छात्रा के गंदे कपड़े उतरवाकर उसे अन्य छात्राओं के सामने धो रहे हैं। इस दौरान वह बालिका वहीं खड़ी हुई है। सिन्हा के मुताबिक, यह फोटो संज्ञान में आने के बाद उन्होंने कार्रवाई करते हुए शनिवार को सहायक शिक्षक त्रिपाठी को निलंबित कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here