कोर्ट के फैसले के बाद ज्ञानवापी और श्रृंगार गौरी मामले में आज हुई पहली सुनवाई, अगली सुनवाई 29 सितंबर फिक्स की

0
33
ज्ञानवापी और श्रंगार गौरी की सुनवाई आज से शुरू, अगली सुनवाई 29 सितंबर फिक्स की

Gyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी-मां श्रृंगार गौरी केस की नियमित सुनवाई आज से शुरू हुई है। ये सुनवाई वाराणसी के जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेस की अदालत में शुरू की गई है। अदालत ने आज तकरीबन 45 मिनट तक अलग-अलग पक्षों को सुनने के बाद केस की सुनवाई की अगली डेट 29 सितंबर फिक्स कर दी है।

आज क्या हुआ जिला जज की कोर्ट में…

मां श्रृंगार गौरी केस की वादिनी महिलाओं के अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन ने बताया कि अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से कोर्ट में एक एप्लिकेशन दी गई थी कि मुकदमे की सुनवाई 8 हफ्ते बाद की जाए। इसका कारण है कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि श्रृंगार गौरी केस में जिला जज के आदेश से कोई पक्ष असहमत होता है तो वह उसके खिलाफ उच्च अदालत में जा पहुँच सकता है।

उसे इसके लिए समय मिलना चाहिए। जिला जज की कोर्ट ने उनकी इस मांग को खारिज करते हुए कहा कि बीती 20 मई का सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर साफ़ है और ट्रायल में स्टे की बात भी नहीं की गई है। मां श्रृंगार गौरी केस में पार्टी बनने के लिए कोर्ट में 16 लोगों ने एप्लिकेशन दी थी। उनमें से मात्र 9 लोग ही उपस्थित रहे। एक एप्लिकेशन वापस होने के बाद 8 लोगों को कोर्ट ने कहा कि वह अपने साक्ष्य और तथ्य प्रस्तुत करें।

पक्षकार बनने के लिए मांग करने वाली सभी एप्लिकेशन पर 29 सितंबर को सुनवाई कर कोर्ट अपना आदेश सुना देगी। इस पर वादिनी महिलाओं की ओर से आपत्ति जाहिर की गई कि हमारी सहमति से ही कोई पार्टी बन सकता है, अन्यथा नहीं बना सकता है। हम अकेले ही केस लड़ने में सक्षम हैं।

ज्ञानवापी परिसर में मिले कथित शिवलिंग की कार्बन डेटिंग और ASI से सर्वे की वादिनी महिलाओं की मांग पर कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। 29 सितंबर को मसाजिद कमेटी अपना पक्ष दाखिल करेगी, जिसके बाद ही कोर्ट अपना ऑर्डर सुनाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here