Haqeeqi Azadi March: इमरान के सामने सेना होगी पस्त या फिर लगेगा ‘मार्शल लॉ’ !

0
68

Haqeeqi Azadi March: पाकिस्तान के पूर्व पीएम और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के अध्यक्ष इमरान खान (Imran Khan) के नेतृत्व में पार्टी के अन्य सदस्यों ने लाहौर के लिबर्टी चौक (Liberty Chowk) से इस्लामाबाद तक हकीकी आजादी लान्ग मार्च (Haqeeqi Azadi Long March) निकालना शुरू किया है। उन्होंने इस दौरान अपने संबोधन में कहा कि मैं बुहत कुछ जानता हूं, लेकिन मैं अपने देश को कोई नुकसान नहीं पहुंचाना चाहता।

पूर्व पीएम खान ने मार्च को संबोधित करते हुए कहा, ”ISI के महानिदेशक (DG) अपने कान को खोलकर सुन लें, मैं बहुत कुछ जानता हूं लेकिन मैं सिर्फ इसलिए चुप हूं क्योंकि मैं अपने देश को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहता।” उन्होंने कहा कि मैं देश की अच्छाई के लिए ये सब कर रहा हूँ, नहीं तो मैं बहुत कुछ कह सकता था।

आर-पार की लड़ाई लड़ रहे इमरान

पाकिस्तान में इमरान खान और सरकार के बीच चल रही सियासी जंग अब आर-पार की लड़ाई में बदल चुकी है। इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की ओर से शुक्रवार को शुरू हुआ आजादी मार्च लाहौर के लिबर्टी चौक पहुंच चुका है। यहां इमरान खान ने शहबाज शरीफ सरकार पर जबरदस्त निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह मार्च किसी राजनीति या निजी फायदे के लिए नहीं है, वल्कि देश की आजादी के लिए है। उन्होंने कहा कि मार्च का सीधा मकसद देश को आजाद कराने से है।

अपने भाषण के दौरान इमरान खान एक बार फिर भारत की तारीफ करते नजर आए। उन्होंने भारत की विदेश नीति को स्वतंत्र बताते हुए शरीफ सरकार की खूब टांग खींची। साथ ही उन्होंने अपने देश की खुफिया एजेंसी आईएसआई पर निशाना साधते हुए कहा कि वह एजेंसी की पोल खोल देंगे।

आपको बता दें कि गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता और आईएसआई के प्रमुख नदीम अहमद अंजुम की तरफ से की गई साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में इमरान खान पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे। कहा गया था कि इसी साल मार्च में सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को ‘लुभाने वाला प्रस्ताव’ दिया गया था। शुक्रवार को इन्हीं आरोपों का जवाब देते हुए इमरान खान ने आईएसआई पर निशाना साधा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here