Grey Hair Treatment: कम उम्र में होने लगें बाल सफेद, तो न करें लापरवाही, इस तरह बचा सकते हैं !

0
589

Grey Hair Treatment: आज के दौर में बाल सफ़ेद होने के लिए उम्र छोटी या बड़ी नहीं होती। किसी भी उम्र में बाल सफ़ेद हो जाते हैं। खासकर ये समस्या अब छोटी उम्र में लोगों में देखि जा रही है। इसका मुख्य कारण रंग बनाने वाली कोशिकाओं का पिगमेंट बनाना बंद करना। इसका मुख्य कारण ख़राब खानपान और दिनचर्या। कई बार अनुवांशिकी की वजह से भी कम उम्र में लोग इस समस्या से पीड़ित होने लगते हैं।

आपने अक्सर किसी फिल्म या टीवी सीरियल में बुज़ुर्गों को कहते सुना होगा कि ”मैंने ये बाल धूप में सफेद नहीं किए हैं।” दरअसल पहले बाल सफेद होने का मतलब व्यक्ति की लंबी उम्र होती थी, लेकिन आज के दौर में बहुत ही छोटी उम्र में लोग सफेद बालों की समस्या का शिकार होने लगते हैं। आपने कई युवाओं के सफेद बालों को देखा होगा। यहां तक कि कई बार 13, 14 से 16 साल के टीनएजर्स के भी बाल सफेद होने लगते हैं। जबकि कई लोगों के 50 की उम्र तक भी बाल सफेद नहीं होते हैं।

क्यों होते हैं बाल सफेद ?

बालों की समस्याओं पर लंबे समय से रिसर्च कर रहे अमेरिका के कुछ त्वचा विशेषज्ञों ने बताया कि जब रंग बनाने वाली कोशिकाएं पिगमेंट बनाना बंद कर देती हैं, तब बाल सफ़ेद होना शुरू हो जाते हैं। इसके अलावा कई बार बालों में प्राकृतिक हाइड्रोजन पैराक्साइड भी जमा होने लगता है जिसकी वजह से बाल सफेद होते हैं। आमतौर पर श्वेत लोगों में 35 की उम्र के आसपास सफेद बालों की समस्या होनी शुरू हो जाती है। एशियाई लोगों में 30 की उम्र के खत्म होने तक और अफ्रीकी-अमेरिकी लोगों में 45 के बाद सफेद बालों की समस्या शुरू हो जाती है। इन सभी इलाकों के लगभग 50 फीसदी लोगों के बाल 50 की उम्र तक काफी हद तक बाल सफेद हो जाते हैं।

बालों को किस तरह बचाएं ?

आंवला और मेथी के बीज बालों को सफेद होने से बचाते हैं। उन्हें पोषण भी देते हैं, मेथी के बीज और शुद्ध आंवले के तेल से बाल मजबूत बनते हैं और उन्हें सफेद होने से भी बचाया जा सकता है। इसके अलावा आप अपनी डाइट में भी आंवला शामिल कर सकते हैं।

नेचुरल कलर

प्राकृतिक हेयर कलर का इस्तेमाल बालों के लिए अच्छा माना गया है। मेहंदी एक नेचुरल हेयर कलर है। आप सिर्फ मेहंदी अपने बालों में लगाकर उन्हें शानदार रंग दे सकते हैं। इसके साथ ही आप चाहें तो उसमें आंवला, भृंगराज, ब्राह्मी आदि कई जड़ी-बूटियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

करी पत्ता और नारियल तेल का इस्तेमाल

करी पत्ता और उसका तेल भी सफेद बालों को सफ़ेद होने से रोकता है। इसमें कई तरह के विटामिन्‍स और मिनरल्‍स के अलावा शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। जो बालों को मजबूत करके उन्हें सफेद होने से बचाते हैं। नारियल का तेल कलर पिगमेंट को सुरक्षित करने के लिए सही जाना-जाता है। अगर आप इन दोनों को मिलाकर बालों पर लगाते हैं तो इससे आपके बाल बहुत हेल्दी होंगे और उन्हें सफेद होने से भी रोका जा सकता है।

सफेद बाल हो सकते हैं काले !

आपके जो बाल सफेद हुए हैं वो दोबारा काले नहीं हो सकते। हालांकि आप इन पर डाई और कलर कर सकते हैं। आजकल बालों को डाई करना आम बात हो गई है। लेकिन केमिकल वाले कलर और डाई के ज्यादा इस्तेमाल से बाल खराब होने लगते हैं। इसकी जगह आप प्राकृतिक रंग या सेमी परमानेंट तरीके से अपने सफेद बालों को रंगते हैं तो इनसे आपके बालों को कोई नुकसान नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here