Government Jobs: मेडल लाओ नौकरी पाओ, केंद्र ने 65 खेलों के खिलाड़ियों की जॉब की पक्की

0
30

Government Jobs: भारत सरकार ने खिलाड़ियों को नौकरी एवं पदोन्नति देने के लिए नए नियम कर दिए हैं। पिछले सप्ताह, सभी मंत्रालयों और विभागों से कहा गया है कि वे इन नियमों के तहत ही खिलाड़ियों को नौकरी या पदोन्नति दें। अगर किसी मामले में कोई गलती या चूक सामने दिखती है तो उसे डीओपीटी के संज्ञान में लाया जाएगा। इन नियमों के तहत रेलवे, एटोमिक एनर्जी विभाग के अंतर्गत आने वाली सेवाओं, इलेक्ट्रॉनिक्स के पूर्व विभाग, अंतरिक्ष विभाग और डिफेंस रिसर्च एंड डेवेलपमेंट में वैज्ञानिक एवं तकनीकी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी केंद्रीय महकमों के सिविल आएंगे। नियम के अनुसार खिलाड़ियों को तीन पदों पर रखा जाएगा। केंद्र सरकार ने नौकरी के लिए 65 खेल तय किए हैं जिनसे नौकरी पक्की।

इन खिलाड़ियों को मिलेगी सरकारी नौकरी

ऐसा खिलाड़ी, जिसने राज्य या देश का राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में, यूनिवर्सिटी और अंतर-यूनिवर्सिटी मुकाबले में प्रतिनिधित्व किया हो। इसमें भी एक शर्त ये है कि खेल का आयोजन इंटर यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स बोर्ड द्वारा आयोजित किया गया हो। वह खिलाड़ी, जिसने अपने स्कूल की टीम का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय खेलों में किया हो और ये खेल ऑल इंडिया स्कूल गेम्स फेडरेशन द्वारा आयोजित किए गए हों। कोई ऐसा खिलाड़ी, जिसने राष्ट्रीय शारीरिक दक्षता ड्राइव के तहत, शारीरिक दक्षता में नेशनल अवार्ड जीता हो। इसके अलावा संबंधित आवेदक को सरकारी नौकरी के लिए अन्य सभी योग्यताएं, जैसे आयु, शिक्षा व अनुभव सब पूरा करना पड़ेगा।

किसी भी समय हो सकती है इन खिलाड़ी की नियुक्ति

योग्यता पूरी करने वाले खिलाड़ियों की नियुक्ति ग्रुप सी और डी के पदों पर की जाएगी। यहां पर भर्ती के लिए जो नियम तय हैं, उन्हीं के अनुसार नियुक्ति की जाएगी। सीधी भर्ती के द्वारा ग्रुप ए और ग्रुप बी के पदों पर कोई भी नियुक्ति नहीं होगी। भारत सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, किसी भी वक्त मेरिट वाले खिलाड़ी की नियुक्ति कर सकते हैं। नियुक्ति प्रक्रिया से छूट प्रदान हो सकती है। ये ध्यान रखा जाए कि सीधी भर्ती के मामले में किसी भी तरह का आरक्षण, कुल पदों का पचास फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

इस तरह जारी होगा प्रमाण पत्र

हालांकि खेलों के नियमों में समय-समय पर बदलाव होते रहते हैं। मौजूदा समय में तय नियमावली के अनुसार ही खिलाड़ियों को सीधी भर्ती का अवसर प्राप्त होगा। अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता है, तो उसमें संबंधित खेल संघ के सचिव की तरफ से प्रमाण पत्र जारी होना चाहिए। ऐसे मामले में केवल एक ही प्रमाण पत्र जरूरी होगा। राष्ट्रीय प्रतियोगिता है तो उसमें राष्ट्रीय स्तर पर फेडरेशन के सचिव या संबंधित खेल में सर्टिफिकेट राज्य एसोसिएशन के सचिव की तरफ से जारी होना चाहिए। इंटर यूनिवर्सिटी टूर्नामेंट है, तो डीन स्पोर्ट्स द्वारा सर्टिफिकेट जारी होना चाहिए। शारीरिक दक्षता ड्राइव के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के सचिव या वह अधिकारी, जो इस तरह की गतिविधियों का ओवरआल इंचार्ज होगा, उसके द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र होना चाहिए।

नौकरी के लिए इन खिलाड़ियों को दी जाएगी वरियता

पहली प्राथमिकता उन खिलाड़ियों को दी जाएगी जिन्होंने युवा मामले एवं खेल विभाग की मंजूरी के बाद अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में देश का प्रतिनिधित्व किया होगा। इसके बाद अगली वरीयता उन खिलाड़ियों को मिलेगी, जिन्होंने जूनियर या सीनियर लेवल की राष्ट्रीय चैंपियनशिप में अपने राज्य/केंद्रशासित प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया होगा। इन खेलों में पहले तीन स्थानों पर खिलाड़ी के लिए मेडल जीतना जरूरी है। अगली वरियता इंटर यूनिवर्सिटी मुकाबले के पदक विजेताओं को दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here