Pollution Disease: सावधान ! प्रदूषण के बढ़ते ही जन्म ले लेती हैं ये खतरनाक बीमारियां

0
60

Pollution Disease: राजधानी दिल्ली में दिन-प्रतिदिन प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है। दिल्ली के साथ-साथ आस-पास के इलाकों में प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ रहा है। सर्दी की दस्तक के साथ ही हवा जहरीली होनी शुरू हो जाती है।

लगातार बढ़ रहा AQI

जहरीला हवा में लोगों को सांस लेने, आखों में जलन जैसी कई बीमारियां होनी शुरू हो गई है। दिन-प्रतिदिन AQI का स्तर भी बढ़ता जा रहा है और साथ में बीमारियों का खतरा भी बढ़ रहा है। आज हम आपको उन बीमारियों के बारे में बताते है और उनसे बचाव के तरीके भी बताते हैं।

अस्थमा की बीमारी

सबसे पहले जहरीली हवा से लोगों को अस्थमा की बीमारी होती है। इसमें लोगों को सांस लेने में परेशानी होती है। इस बीमारी में सीने में दबाव महसूस होता है और खांसी भी होती है। कई लोगों को श्वसन मार्ग में सूजन भी हो जाता है।

आंखों पर दुष्प्रभाव

हवा के प्रदूषित होने से आंखों में प्रभाव पड़ता है। क्योंकि जहरीली हवा आंखों को छूती है और इससे आंखों में जलन पैदा हो जाती है जो आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। प्रदूषण के कारण आंखों में जलन के साथ-साथ खुजली, लालिमा, दर्द जैसी दिक्कतें होने लगती हैं।

मानसिक स्वास्थ्य पर असर

आंखों के अलावा हवा के प्रदूषित होने पर मस्तिष्क में कई प्रकार के परिवर्तन होने लगते है। जो मानसिक बीमारियों के जोखिम को भी बढ़ा देती है। हवा के प्रदूषण होने के कारण शरीर में सूजन हो जाती है। जिसे चिंता विकार और गंभीर स्थितियों में अवसाद के खतरे को बढ़ाने वाला माना जाता है।

दिल का दौरा

वहीं हवा के प्रदूषण से दिल के दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल जहरीली हवा के महीन कण पीएम 2.5 खून में प्रवेश कर जाते हैं। इससे धमनियों में सूजन आने लगती है और फिर दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है।

क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज सांस संबंधी बीमारी है, जिसमें रोगी को सांस लेने में मुश्किल होती है। यह बेहद खतरनाक होती है। स्वास्थ्य विभाग की मानें तो इससे बीमारी में लोगों की जान भी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here