Delhi Pollution: ANTI SMOG GUN जानें कैसे करती हैं काम और क्या सच में हैं प्रभावी ?

0
38

Delhi Pollution: दिल्ली में ठंड बढ़ते ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ने लगता है। कुछ हफ्तों में प्रदूषण बद से बदतर होता जा रहा है और दिल्ली निवासियों को बहुत ही प्रदूषित धुंध का समना करना पड़ सकता है। वहीं दिल्ली सरकार प्रदूषण से निपटने के लिए खुद को और अधिक एंटी-स्मॉग गन (ASG) से लैस कर रही है।

2017 में हुआ था परीक्षण

बता दे कि, ASG का पहली बार 2017 में परीक्षण किया गया था। तब से कई प्रमुख स्थानों पर एसी स्थापित में इसका इस्तेमाल किए जाता हैं। एंटी-स्मॉग गन एक ऐसा उपकरण है जो वातावरण में बारीक नेबुलाइज्ड पानी की बूंदों को फैलाता है जिससे छोटी से छोटी धूल और प्रदूषित कण अवशोषित हो जाएं। यह एक पानी की टंकी से जुड़ी होती है जो एक वाहन पर लगी होती है। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह पानी को उच्च दबाव वाले प्रोपेलर से गुजार कर 50-100 माइक्रोन के आकार की बूंदों के साथ एक महीन स्प्रे में परिवर्तित कर देता है।

वाटर कैनन के नाम से भी जाना जाता है ASG

ASG, जिसे स्प्रे गन, मिस्ट गन या वाटर कैनन भी कहा जाता है, धूल और अन्य पार्टिकुलेट मैटर (PM2.5 और PM10) को बांधकर और उन्हें पानी के साथ जमीनी स्तर तक ले जाकर वायु प्रदूषण को कम करता है। ASG एक चंदवा प्रभाव बनाता है और बारिश की तरह काम करता है, जिससे वातावरण में लटके हुए निलंबित कणों को नीचे लाया जा सके। पानी का स्प्रे 150 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है और 30-100 लीटर प्रति मिनट पानी उगल सकता है।

बता दे, ASG शहरों में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करते हुए, यह खनन, पीसने, कोयला और स्टोन क्रशिंग में औद्योगिक धूल को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। हाल ही में, नोएडा ट्विन टावरों के विध्वंस के बाद भी उपकरणों का उपयोग किया गया था।

एंटी-स्मॉग गन की प्रभावशीलता

शहरी क्षेत्रों मेंASG के उपयोग की प्रभावीता पर एक बहस चल रही है। अक्सर यह सवाल उठता है कि क्या यह वास्तव में अपने अद्देश्य को पूरा करता है?  यह वायु प्रदूषण को कितनी दूर तक कम करता है? पर्यावरणविदों का कहना है कि इन उपकरणों का प्रभाव सीमित समय के लिए ही होता है। जब स्प्रे ऑररेशन किया जाता है तो इनका प्रभाव एक निश्चित क्षेत्र या स्थान तक ही सीमित होता है, उनका तर्क है। यह त्वरित राहत के लिए एक अस्थायी उपाय है, लंबे समय तक चलने वाला समाधान नहीं, वे जोर देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here